शुभेंदु पर भाजपा में कोई मतभेद नहीं : दिलीप घोष

सन्मार्ग संवाददाता
काेलकाता : विधानसभा चुनाव में भाजपा को 77 सीटें मिलने के बाद भाजपा राज्य में मुख्य​ विपक्षी पार्टी बनकर उभरी और वरिष्ठ नेता शुभेंदु अधिकारी को विधानसभा में विपक्ष का नेता चुना गया था। गत 10 मई को उन्हें विपक्ष का नेता बनाया गया था, इस दिन भाजपा के 77 में से 52 विधायक सोमवार को हेस्टिंग की बैठक में आये थे। इनमें से 22 विधायकों ने शुभेंदु अधिकारी के नाम का समर्थन किया। वहीं बाकी के विधायकों ने भी बाद में हाथ उठाकर सबकी हां में हां मिलायी थी। हालां​कि अब पार्टी सूत्रों का कहना है कि शुभेंदु अधिकारी को कई भाजपा विधायक बतौर विपक्ष के नेता के तौर पर नहीं चाहते हैं और चाहते हैं कि भाजपा के किसी पुराने नेता को ही विपक्ष का नेता बनाया जाए। सूत्रों का कहना है कि अगर उनकी ये बात नहीं मानी गयी तो कुछ विधायक इस्तीफा भी दे सकते हैं। हालांकि इस बारे में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने सन्मार्ग को बताया कि शुभेंदु को हटाने का सवाल ही नहीं उठता है। दिलीप घोष ने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि कौन से विधायक ऐसा बोल रहे हैं। शुभेंदु सीनियर नेता हैं और सर्वसम्मति से उन्हें विपक्ष का नेता चुना गया है। ऐसे में उन्हें हटाये जाने का कोई सवाल ही नहीं उठता है।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

ये ‘कॉन्डम बम’ इजरायल के खिलाफ हो रहा है यूज

नई दिल्ली: इजरायल और फलस्तीन के बीच हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। दोनों देशों के बीच मई में एक लंबे संघर्ष के बाद सीजफायर का ऐलान आगे पढ़ें »

वैक्सीन लगवाने के बाद क्‍या पीरियड्स के दौरान हो रहींं ये दिक्कतें?

लंदन: कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद हल्के साइड इफेक्ट को लेकर पहले ही विशेषज्ञ स्थिति साफ कर चुके हैं कि डरने की कोई बात नहीं आगे पढ़ें »

ऊपर