जल्द घर पहुंचने की जल्दी, वाहन पकड़ने के लिए मची होड़

लॉकडाउन के कारण 30 मई तक थम गई वाहनों की रफ्तार
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः राज्य में रविवार से लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही लोगों में वाहन पकड़ने की होड़ सी लग गई। शनिवार की दोपहर को जैसे ही लोगों तक खबर पहुंची कि रविवार से लॉकडाउन है। साथ ही परिवहन 30 मई तक बंद रहेगा। ऐसे में लंबी दूरी की बसों से अपने गंतव्य के लिए जाने की लोगों में होड़ सी लग गई। शाम होते ही वाहनों की रफ्तार काफी तेज नजर आई। सड़कों पर हाल के दिनों में वाहन कम नजर आ रहे थे। हालांकि शनिवार की शाम सड़कों पर वाहनों में लोगों की भीड़ दिखी। बाबूघाट, धर्मतल्ला, हावड़ा से लेकर प्रमुख बस स्टैण्ड पर लंबी दूरी के यात्रियों की अचानक भीड़ बढ़ सी गई। अनि‌श्चितता के माहौल को देखते हुए लोग जल्द से जल्द घर पहुंचने की जल्दी में थे। ऑल बंगाल बस-मिनी बस समन्वय कमेटी के महासचिव, राहुल चटर्जी ने कहा कि हमें अचानक अतिरिक्त बसों को चलाने का निर्देश परिवहन विभाग की ओर से मिला। ऐसे में हमने इसके लिए व्यवस्था भी कर दी। जरूरत थी कि सरकार कम से कम एक दिन का समय देती तो बस ड्राइवर से लेकर कंडक्टरों को सुविधा होती। विशेषकर लंबी दूरी की बसों को लेकर थोड़ी समस्या का सामना हमें करना पड़ा।
बस, ऑटो, टैक्सी ने लगाए अतिरिक्त फेरे, परिवहन विभाग ने दिए थे निर्देश
लॉकडाउन की घोषणा की खबर मिलने के बाद बस, ऑटो,टैक्सी, ऐप कैब, फेरी परिसेवा ने अतिरिक्त फेरे लगाए। दूसरी तरफ परिवहन विभाग की तरफ से भी बस मालिकों को अपने संगठन के माध्यम से इस सिलसिले में दिशा-निर्देश जारी किया गया था। साथ ही कहा गया था कि लोगों की सुविधा के लिए अतिरिक्त परिवहन परिसेवा शनिवार को दी जाए, ताकि लोग अपने-अपने गंतव्य तक पहुंच सकें।
बसों की छत पर भी चढ़े लोग
ऑल प्राइवेट लांग बस वर्कर्स यूनियन के शाहिल वारसी ने कहा कि लॉकडाउन की घोषणा की खबर पाकर अपने घर तक जाने वालों की भीड़ बढ़ गई। दोपहर से ही बसों में अतिरिक्त यात्रियों की भीड़ रही। आलम यह था कि कई बसों में हमने बस की छत पर भी यात्रियों को जाते देखा। हालांकि सुरक्षा के तहत या‌त्रियों को अन्य बस से उनके गंतव्य तक भेजा गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेट कंट्रोल के साथ आपके मन को शांत रखती हैं ये पांच छोटी-छोटी बातें

कोलकाताः मन अशांत रहने का असर हमारे खाने-पीने की आदतों पर भी पड़ता है। मौजूदा समय में जिस तरह दुनिया अस्त-व्यस्तता से गुजर रही है, उसकी आगे पढ़ें »

बच्चों व महिलाओं के लिए 10 हजार बेड तैयार कर रहा स्वास्थ्य विभाग

बच्चों के लिए स्पेशल कोविड बेड हर अस्पताल में थर्ड वेव के मद्देनजर तैयारियां जोरों पर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना वायरस महामारी के सेकंड वेव ने स्वास्थ्य आगे पढ़ें »

ऊपर