हफ्ते में चार दिन काम, बाकी आराम ! नए श्रम कानून में हो सकता है बदलाव

नई दिल्ली : नए श्रम कानूनों के तहत कामगारों के लिए काम के घंटे काफी लचीला बनाने की कोश‍िश की जा रही है। इसके तहत यह प्रस्ताव है कि हफ्ते में अध‍िकतम 48 घंटे काम कराया जाए। नियमों को लचीला बनाते हुए यह किया जा सकता है कि अगर कोई कामगार हफ्ते में चार दिन में ही 48 घंटे काम कर लेता है यानी हर दिन 12 घंटे तो बाकी तीन दिन उसे छुट्टी दी जा सकती है। लेकिन इसके लिए हर दिन काम के घंटे की सीमा मौजूदा 8 घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे करनी होगी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, केंद्रीय श्रम सचिव अपूर्व चंद्रा ने सोमवार को कहा कि कर्मचारियों के लिए हफ्ते में अध‍िकतम 48 घंटे तक ही काम करने की सीमा तय की जाएगी।
डेली वर्किंग ऑवर में फेरबदल की छूट
लेकिन कंपनियों को यह छूट दी जा सकती है कि वे इसके मुताबिक कर्मचारियों की मंजूरी से अपने दैनिक कार्य अवध‍ि में फेर-बदल कर सकें। इसका मतलब यह है कि अगर कोई कर्मचारी चाहे तो एक दिन में ही 10 से 12 घंटे काम करे और हफ्ते के छह दिन काम करने की जगह 4 से 5 दिन में ही अपना टारगेट पूरा कर ले। इसमें बीच में अल्पकालिक अवकाश (इंटरवल) भी शामिल हैं।
अभी क्या हैं नियम
मौजूदा प्रावधानों के तहत आठ घंटे के वर्किंग ऑवर में कार्य सप्ताह छह दिन का होता है तथा एक दिन अवकाश का होता है। प्रस्ताव के अनुसार, कोई भी व्यक्ति कम से कम आधे घंटे के इंटरवल के बिना पांच घंटे से अधिक लगातार काम नहीं करेगा। कर्मचारी को हफ्ते के बाकी दिन पेड लीव यानी साप्ताहिक अवकाश दिया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या शादी के बाद भी आप करते हैं…

नई दिल्ली : भारतीय समाज में शादी के बाद तो क्या शादी के पहले भी मास्टरबेशन को सहज नहीं माना जाता। यहां मानसिकता यही है आगे पढ़ें »

मोबाइल दुकान में 30 लाख की चोरी, व्यवसायी आतंकित

-45 मिनट तक चली चोरी, पुलिस को नहीं हुई भनक मोबाइल दुकान में 30 लाख की चोरी, व्यवसायी आतंकित -45 मिनट तक चली चोरी, पुलिस को नहीं आगे पढ़ें »

ऊपर