न पर्याप्त वैक्सीन मिल रही न राहत सामग्री की मदद दे रहा केंद्र : ममता

बंगाल के साथ भेदभाव नहीं ठीक
राज्य को 14 करोड़ वैक्सीन की आवश्यकता, केंद्र ने दिया 2.12 करोड़
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य में कोरोना की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कह दिया है कि स्थितियां काबू में आ गयी है। राज्य सरकार प्रतिदिन 10 लाख वैक्सीन लगाने की क्षमता रखता है लेकिन केंद्र की तरफ से पर्याप्त वैक्सीन की डोज ही नहीं मिल रही है। इसकी वजह से न चाहते हुए वैक्सिनेशन बंद करवाना पड़ रहा है। ममता ने कहा कि अब तक राज्य में 14 करोड़ वैक्सीन की डोज की आवश्यकता है, इसके लिए पीएम मोदी को एक बार फिर चिट्ठी दी है लेकिन वहां से मदद नहीं मिल रही है। दूसरी तरफ पीएम मोदी ने खुद कहा कि उत्तर प्रदेश में अधिक वैक्सीन दिया गया है। दूसरे राज्यों को वैक्सीन देना अच्छी बात है लेकिन बंगाल के साथ यह पक्षपात कर उचित नहीं है जबकि वैक्सिनेशन मामले में बंगाल का प्रदर्शन देशभर में सबसे बेहतर है।
ममता ने बताया कि कोविड की पॉजिटिव रेट 1.5 फीसदी पर पहुंच गयी है, वहीं डिस्चार्ज रेट 98 प्रतिशत तक है। करीब ढाई करोड़ लोगों को वैक्सीन दे दी गयी है। 1.8 करोड़ लोगों को डबल डोज दे दिया गया है।
राहत सामग्री को लेकर भी ममता ने कहा कि केंद्र्र की तरफ से मदद नहीं मिल रही है। बंगाल के खिलाफ षडयंत्र रचा जा रहा है। ममता ने कहा कि मेरा काम पीएम को बंगाल की समस्याओं से अवगत कराना है। मुझे मालूम है कि इसका कोई फायदा नहीं होने वाला है फिर भी में उन्हें समस्याओं से जुड़ी चिट्ठी बराबर देती रहती हूं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

57 साल पुरानी हॉकी बॉल आज भी किसी ऑलम्पिक ट्रॉफी से कम नहीं

हावड़ा : लक्ष्मीकांत दास के चेहरे पर आज भी 57 साल पुरानी घटना की चमक नजर आती है। वे कहते हैं कि टोक्यो के कोमाजवा आगे पढ़ें »

ऊपर