लापरवाहीः बाजारों में चेहरे से मास्क गायब, सोशल डिस्टेंसिंग भी नदारद

कोरोना पर लापरवाही या नासमझी?
बाजार में बिना मास्क खरीदारी, कोविड को दावत दे रहे लोग
बाजारों में लोगों के बीच नहीं दिख रही दूरी
बिना मास्क वाले बता रहे अलग-अलग मजबूरी

कल्पना सिंह
कोलकाताः देशभर में कोरोना वायरस की तीसरी लहर की रफ्तार तेज होती जा रही है। कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने इसे और रफ्तार दे दी है। कोरोना के नए मामले भी काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। सूबे की राजधानी कोलकाता भी इस मामले में नंबर वन पर है, लेकिन सरकार और प्रशासन की लाख हिदायतों के बावजूद लोगों की लापरवाही और बेफिक्री खुलेआम महानगर के विभिन्न जगहों पर देखने को मिल रही है। राज्य में हाल के दिनों में प्रतिदिन 18000 से अधिक नए कोविड के केस दर्ज हो रहे हैं। इन सबके बाद भी महानगर के लोगों में जागरूकता की कमी नजर आ रही है। महानगर के विभिन्न बाजारों में हर जगह मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का माखौल उड़ाया जा रहा है। सब्जी लेने के लिए बाजार जाते वक्त लोग घर से थैला तो लेकर निकल रहे हैं, लेकिन सेहत के लिए सबसे ज्यादा जरूरी मास्क ही भूल जा रहे हैं।
कई बाजारों में पैर रखने तक की नहीं मिल रही जगह
कसबा सब्जी मार्केट, कोले मार्केट, चौरस्ता मार्केट, सियालदह में हाल के कई दिनों में देखा गया कि भीड़ जमकर हो रही है। यहां सोशल डिस्टेंसिंग नदारद है। हर जगह लापरवाही दिख रही है। खरीददार और दुकानदार दोनों बेपरवाह बने हुए हैं। पूछने पर कोई भूल जाने, तो कोई मास्क गिर जाने का बहाना बनाता है।
खन्ना हरीशा हाट
रविवार को खन्ना हरीशा हाट में खचाखच भीड़ नजर आयी। लेकिन बाजार में न किसी के चेहरे पर ढंग से मास्क था न किसी को इस बात की परवाह। व्यापार संघ की ओर से माइकिंग कर मास्क लगाने की हिदायत दी जा रही थी, लेकिन कोई भी इसे मानता हुआ दिखाई नहीं दिया। बाजार में लोग भीड़ लगाकर खरीददारी करते हुए नजर आए। जहां ‘नो मास्क, नो सेल’ लिखा हुआ था, वहां भी बिना मास्क के ही लोग खरीददारी करते दिखे।
बागबाजार गैलीफ स्ट्रीट पेट मार्केट में उमड़ी भीड़
बागबाजार के गैलीफ स्ट्रीट पर हर रविवार लगता है पेट मार्केट। यहां भी खास बदलाव नहीं देखा गया। रविवार की सुबह जमकर भीड़ उमड़ी। माइकिंग करते हुये बाग बाजार शॉखेरहाट व्यवसायी समिति लोगों को जागरूक करते दिखी। इसके बाद भी खरीददार टस से मस नहीं हुये। हालांकि, व्यवसायी समिति द्वारा बिना मास्क वाले खरीददारों को बाजार से बाहर निकाल दिया गया। वहीं समिति ने सभी विक्रताओं को भी चेतावनी दी है कि यदि वे मास्क नहीं पहनते हैं तो उन्हें निलंबित कर दिया जायेगा।
कसबा बाजार
कसबा बाजार में जब एक विक्रेता से पूछा गया कि मास्क क्याें नहीं पहना है तो उन्होंने बड़े ही आसानी से यह जवाब दिया कि ‘मैं चाय पी रहा था’। कई विक्रेताओं ने कहा कि वे दुकान में पूजा कर रहे थे, उन्होंने धूप-अगरबत्ती जलायी है। इसलिए उन्होंने मास्क नहीं पहना। वहीं, किसी ने मफलर को ही मास्क बना लिया है।
कोले बाजार
यहां भीड़भाड़ के बीच लोग आवश्यक दूरी का पालन नहीं कर पा रहे थे। लोगों के चेहरे पर मास्क नहीं दिखाई दिया। ठेले पर सामान बेच रहे व्यवसायी और फुटपाथ व्यवसायी भी बिना मास्क के निश्चिंत होकर बिक्री करते मिले। राहगीरों के बीच कोविड के तीसरी लहर की आशंका की चर्चा सुनी गई।
मानिकतल्ला बाजार
मानिकतल्ला बाजार में भी लोग बिना मास्क के ही खरीददारी करते दिखे। दुकानों पर भी लोग बिना मास्क के सामान लेते नजर आए। जबकि दुकानदारों को निर्देश जारी किया गया कि बिना मास्क के आने वाले ग्राहकों को सामान न बेचें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कोरोना ने ढाया कहर : इन बाजारों में लगे लॉकडाउन, पसरा सन्नाटा

मालबाजार : लोग अभी कोरोना के पहले व दूसरे लहर के विकराल रूप को ही भूल ही नहीं पाये थें कि अब कोरोना संक्रमण की आगे पढ़ें »

ऊपर