फेफड़े में अटकी सुई, डॉक्टरों ने सर्जरी कर निकाला

समय से नहीं होती सर्जरी तो संक्रमण का था खतरा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः बर्दवान की एक सत्रह वर्षीय किशोरी ने एक पूरी सुई निगल ली। सुई फेफड़े के दाहिने हिस्से के निचले हिस्से में फंसी हुई थी। एसएसकेएम में ब्रोंकोस्कोपी से सुई को बाहर निकाला गया। किशोरी भी पूरी तरह स्वस्थ है। अस्पताल सूत्रों ने बताया कि रेहाना खातून सिलाई कर रही थी, तभी सुई मुंह से होते हुए फेफड़े में चली गई। वह पानी पीना जारी रखी थी, लेकिन सुई फेफड़े के दाहिनी ओर निचले हिस्से में फंस गई थी। उसे पहले बर्दवान मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में लेकर जाया गया। वहां उसे प्राथमिक उपचार मिला। उसके बाद कोलकाता रेफर कर दिया गया।
रिगिड ब्रोंकोस्कोपी कर निकाली सुई
एसएसकेएम के ईएनटी विभाग के सीनियर रेजिडेंट डॉ. सायन हाजरा ने बताया कि किशोरी को मंगलवार को एसएसकेएम में आउटडोर में लाया गया था। ईएनटी विभाग ने तुरंत उसका एक्स-रे किया। जांच में पाया कि तुरंत सर्जरी की जरूरत है। डॉ. हाजरा ने कहा कि ऐसे में हमने उसे भर्ती ले लिया। डॉ. कौस्तव दास विश्वास, डॉ.सौरवमय बनर्जी,डॉ.जिश्नू होरे, डॉ. मैनक साहा, डॉ. तुषार हल्दर के साथ मिलकर मैंने सर्जरी की। फेफड़े के निचले हिस्से में सुई खतरनाक तरीके से फंसी हुई पाई गई थी। रिगिड ब्रोंकोस्कोपी के माध्यम से सर्जरी द्वारा किशोरी के फेफड़े से सुई निकाल ली गई। फिलहाल वह ठीक है। हमें उसे आईसीयू में भी नहीं भर्ती करना पड़ा। हालांकि सर्जरी यदि समय पर नहीं की जाती तो फिर सुई से संक्रमण फैलने का डर था। साथ ही सुई किसी अन्य हिस्से में जाकर किसी नर्व को क्षति पहुंचा सकती थी। किशोरी को दो दिन तक निगरानी में रखा जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ाबाजार में बस की चपेट में आने से यात्री की मौत

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बड़ाबाजार थानांतर्गत स्ट्रैंड रोड पर मिनी बस की चपेट में आने से एख यात्री की मौत हो गयी। मृतक का नाम सुनील आगे पढ़ें »

ऊपर