एक साल से नाजिया नहीं आयी भाजपा कार्यालय : दिलीप घोष

‘बंगाल की गलत नीतियों के कारण भुगत रहे हैं किसान’
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कथित फर्जी एडवोकेट व भाजपा कार्यकर्ता नाजिया इलाही खान की गिरफ्तारी के मुद्दे पर शुक्रवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि पिछले एक साल से ना​जिया इलाही भाजपा कार्यालय में नहीं आयी। उन्होंने कहा, ‘क्या नाजिया भाजपा में अब भी है ? उसे तृणमूल के पार्टी कार्यालय से पकड़ा गया है। एक समय में वह भाजपा में थी, लेकिन अभी कहां है ? एक साल से मैंने उसे पार्टी कार्यालय में नहीं देखा। कोई अपराध करने पर कानूनी तौर पर व्यवस्था ली जाएगी।’ इधर, कोविड के बीच राज्य में उपचुनाव को लेकर दिलीप घोष ने कहा, ‘हमारे राज्य में तथ्य छुपाये जाते हैं। अब तृणमूल कोरोना को भूल कर उपचुनाव कराना चाहती है। लोग नहीं बचेंगे तो भी चलेगा, लेकिन उन्हें पद चाहिये। लोगों को जागरूक होना होगा। चुनाव भूलकर लोगों को बचाने की चिंता की जानी चाहिये। इससे पहले यहां उपचुनाव नहीं हुआ, उस समय मुख्यमंत्री ने जाकर उपचुनाव की बात नहीं कही। देश के अन्य जगहों पर भी उपचुनाव नहीं हुए हैं, कोरोना परिस्थिति में सरकारी लॉकडाउन लगाकर रखा गया है। इसके बाद ही उपचुनाव होने चाहिये।’
इधर, हेस्टिंग्स के भाजपा कार्यालय में किसान मोर्चा की बैठक के बाद दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार की गलत नीतियों के कारण पश्चिम बंगाल के किसान भुगत रहे हैं, किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) का लाभ नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने कुछ फसलों का समर्थन मूल्य डेढ़ गुना तक बढ़ाया है, लेकिन तृणमूल सरकार की गलत नीतियो के कारण राज्य के किसानों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। दिलीप घोष ने कहा कि किसानों को उनका उत्पादन मूल्य कम करने पर बाधित किया जा रहा है। पश्चिम बंगाल की कृषक नीति इस तरह तैयार की गयी है कि इससे केवल तृणमूल कार्यकर्ताओं का ही भला हो सकेगा। किसान नहीं बल्कि दलालों को इसका लाभ मिल रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

विधायक मदन मित्रा को सीबीआई ने किया तलब

कोलकाता : आई-कोर चिटफंड मामले में सीबीआई ने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के पूर्व मंत्री और कमरहटी के टीएमसी के विधायक मदन मित्रा आगे पढ़ें »

ऊपर