120 मिनट औरः पता चल जायेगा कि ममता सरकार के हैवीवेट नेताओं को मिलेगी जेल या बेल ?

कोलकाताः नारदा स्टिंग ऑपरेशन मामले में आरोपी मंत्री फिरहाद हकीम, मंत्री मुखर्जी, विधायक मदन मित्रा और कोलकाता के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी की जमानत याचिका पर बुधवार को सुनवाई थी, लेकिन कलकत्ता उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल और न्यायमूर्ति अरिजीत बनर्जी की खंडपीठ मामले की सुनवाई गुरुवार 2 बजे से करने का निर्देश दिया था। आज फिर मामले की सुनवाई होगी।

उन्होंने मामले को स्थानांतरित करने पर फैसला नहीं दिया। उच्च न्यायालय ने गुरुवार को नारदा मामले में 4 दिग्गज नेताओं के जमानत स्थगन आदेश पर पुनर्विचार की मांग वाली एक याचिका पर सुनवाई की। बुधवार की सुनवाई के बाद मंत्री फिरहाद हकीम, सुब्रत मंत्री मुखर्जी, मदन मित्रा और शोभन चटर्जी फिलहाल जेल की हिरासत में हैं।

बुधवार को सुनवाई के दौरान नहीं हुआ कोई फैसला

बता दें कि बुधवार को हाईकोर्ट में भी मामले की सुनवाई हुई, लेकिन कुछ तय नहीं हुआ। वकील सिद्धार्थ लूथरा ने कहा, “मदन मित्रा और शोभन चटर्जी को सीओपीडी है, उन्हें जाने दें. हालांकि किसी को जमानत नहीं मिली। सवाल-जवाब सत्र के दौरान न्यायमूर्ति जे बिंदल ने सीबीआई कार्यालय में मुख्यमंत्री ममता की मौजूदगी पर सवाल उठाया था। उन्होंने कहा, ” निजाम पैलेस में मुख्यमंत्री, कोर्ट में कानून मंत्री, सड़क पर हंगामा सुनवाई कहां होगी?’

शेयर करें

मुख्य समाचार

एम.ए पास नटवरलाल चला रहा था चोरों का गिरोह, 3 गिरफ्तार

पिता थे सेल के ऑफिसर एवं मां थी शिक्षिका, बेटा है चोर यह सुनकर ही मां ने कर ली थी आत्महत्या हावड़ा, हुगली, आसनसाेल में कई आगे पढ़ें »

सेक्स के दौरान लड़कियों के जांघों को…

कोलकाता : शारीरिक संबंध बनाने के दौरान महिला और पुरुष, दोनों में आपसी सामंजस्य होना बेहद आवश्यक होता है। सेक्स को दोनों शारीरिक संतुष्टि चाहते आगे पढ़ें »

ऊपर