मेरी मां गुजर गयी, भाजपा का कोई…

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : उत्तरपाड़ा में तृणमूल से विधायक रह चुके और हाल में भाजपा से टिकट लड़ने वाले प्रबीर घोषाल के सुर भी अब बदले हुए नजर आ रहे हैं। वह तृणमूल नेताओं का गुणगान कर रहे हैं। यहां उल्लेखनीय है कि हाल में प्रबीर घोषाल को मातृ शोक हुआ था जिसके बाद तृणमूल के कई नेताओं व कार्यकर्ताओं ने उनकी खबर ली। हालांकि प्रबीर का आरोप है कि भाजपा का कोई उनकी ओर झांकने तक नहीं आया। प्रबीर ने कहा, ‘मां के गुजरने के बाद सांसद कल्याण बंद्योपाध्याय से लेकर विधायक कांचन मल्लिक, सबने फोन कर संवेदना जतायी, मुख्यमंत्री ने शोक वार्ता भेजा। स्थानीय तृणमूल कार्यकर्ताओं में कई श्मशान घाट भी गये थे। हालांकि भाजपा के केवल कुछ स्थानीय लोगों ने ही संवेदना जतायी। मेरे साथ भाजपा में शामिल होने वाले शुभेंदु अधिकारी, राजीव बनर्जी ने जरूर मेरी खबर ली, लेकिन मूल भाजपा नेतृत्व की ओर से किसी का फोन नहीं आया जबकि 30 साल पहले जब पिता गुजरे थे तो तपन सिकदर घर आये थे।’ इधर, मुकुल राय की बीमार पत्नी कृष्णा राय से मिलने अभिषेक बनर्जी गये थे। इस संबंध में प्रबीर ने कहा, ‘अभिषेक के जाने के बाद दिलीप घोष गये, प्रधानमंत्री ने फोन किया। हालांकि मुख्यमंत्री ने काफी पहले ही खबर ली थी, यह सब देखकर मैं आश्चर्यचकित हूं।’ गत शुक्रवार को हुगली में दिलीप घोष की बैठक में अनुपस्थित रहने को लेकर प्रबीर ने कहा, ‘मैंने दिलीप बाबू को फोन कर कहा था कि अभी मां का काम हुआ, अभी मैं नहीं रह पाऊंगा। उस समय देखा कि उन्हें कुछ पता ही नहीं था। मैंने तो तृणमूल में भी किसी को नहीं कहा था, उन लोगों ने खुद ही फोन किया।’ राजनीति में जाने के मुद्दे पर उन्होंने कहा, ‘अभी इस बारे में नहीं सोच रहा हूं। हालांकि क्यों पार्टी को ऐसी हार मिली, इसे लेकर भाजपा को चर्चा करनी चाहिये।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

मुखर्जी की पुण्यतिथि पर बंगाल में टीएमसी, भाजपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप

कोलकाता : बंगाल की महान हस्ती श्यामा प्रसाद मुखर्जी को अपेक्षित सम्मान दिए जाने को लेकर उनकी पुण्यतिथि पर बुधवार को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और आगे पढ़ें »

भाजपा सभी के लिए बड़ी बीमारी बन चुकी है – ममता

2024 में सत्ता से होगी बाहर कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला और कहा कि भाजपा आज के समय में आगे पढ़ें »

ऊपर