‘ट्रांसजेंडर होने के कारण नहीं हुआ मेरा कोविड टेस्ट’

मानवी ने की शिकायत, कहा, मानसिक तौर पर टूट गयी हूं
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : केवल ट्रांसजेंडर महिला होने के कारण मेरा कोविड टेस्ट नहीं हो रहा है। राज्य की ट्रांसजेंडर ट्रांसपर्सन बोर्ड की उपाध्यक्ष व टोला महाविद्यालय की अध्यापिका मानवी बंद्योपाध्याय ने ये शिकायत राज्य के महिला, शिशु व समाज कल्याण विभाग के पास की है। उन्होंने आरोप लगाया कि गत शनिवार और रविवार को कोरोना टेस्ट के लिए कोलकाता के विभिन्न जगहों पर उन्होंने फोन किया। यहां तक कि एम. आर.बांगुर अस्पताल भी गयी, लेकिन उनका कोरोना टेस्ट नहीं किया गया। महिला, शिशु व समाज कल्याण विभाग की प्रधान सचिव संघमित्रा घोष के पास उन्होंने ये शिकायत की है। शनिवार की दोपहर लगभग 12 बजे मानवी बांगुर अस्पताल में अपने पति का कोरोना टेस्ट कराने गयीं। पति का कोरोना टेस्ट हो गया, लेकिन अस्पताल की ओर से कहा गया कि उनका कोरोना टेस्ट अभी नहीं किया जा सकता। इस बारे में मानवी ने कहा, ‘अस्पताल में कोरोना टेस्ट कराने गयी थी, बुखार था। मेरे पति का टेस्ट हुआ, लेकिन मुझे मेंटल कहकर भगा दिया गया। मैं ट्रांसजेंडर नारी हूं जिस कारण मेरा कोरोना टेस्ट नहीं किया गया। इस घटना से मैं मानसिक तौर पर टूट चुकी हूं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः सिनेमा हॉल में स्क्रीनिंग….

कुछ सिनेमा हाल मालिकों ने सिंगल स्क्रीनिंग के साथ शुरू किया परिचालन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः शहर के सिनेमा हॉल मालिकों ने कहा कि वे पश्चिम बंगाल सरकार आगे पढ़ें »

ऊपर