पंचायतों में बनेगा ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’,सरकार का गांवों की तरफ रुख

कोलकाता : राज्य सरकार द्वारा चालू की गयी सरकारी योजना व प​रियोजनाओं का लाभ राज्यभर में लोगों को मिल रहा है कि नहीं यह जानने के लिए तृणमूल सरकार शहर से गांवों की तरफ रुख कर चुकी है। अधिकारियों को निर्देश भी दे दिया गया है कि वह गांव-गांव जाकर लोगों की समस्या सुने तथा उसका निदान करें। अब तक दक्षिण बंगाल के जिलों में किया जा रहा यह कार्यक्रम हाल ही में उत्तर बंगाल के जिलों में भी चालू कर दिया गया है।

ग्राम पंचायत और बीडीओ दोनों शामिल
यह पूरा कार्यक्रम राज्य सरकार द्वारा चालू किया गया ग्रिवांस मॉनिटरिंग सेल के तहत किया गया है। सेल के एडवाइजर कर्नल दीप्तांशु चौधरी ने बताया कि इस कार्यक्रम की अगली कड़ी ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ है, जिसमें ग्राम पंचायत बीडीओ की मदद से अपने बूथ को मजबूत करेगा। यह काम सरकारी व राजनीतिक दोनों स्तर पर शत-प्रतिशत पूरा हो सके, उसे देखते हुए ही ग्राम पंचायत और बीडीओ दोनों को इसमें शामिल किया गया है।

एक जिले के डीएम ने बताया कि उनका टार्गेट लोगों के पास जाकर उनकी समस्या को सिर्फ सुनना नहीं बल्कि उसका हाथों हाथ निपटारा करना है। कोशिश भी की जाती है कि ज्यादातर समस्याओं का समाधान मौके पर किया जाए, जो कुछ समस्या जटिल है उसे 3-4 दिनों में हल किया जा रहा है।

पिछड़ी जाति तक पहुंचना सरकार की प्राथमिकता

नवान्न सूत्रों ने बताया कि यह पूरा कार्यक्रम एक परियोजना के तहत किया जा रहा है, जिसमें पिछड़ी जाति तक पहुंचना सरकार की प्राथमिकता है। इसे देखते हुए इस परियोजना को जंगलमहल में अधिक सक्रिय किया गया था जो सफल भी हुआ। सूत्रों ने बताया कि समस्त जिलों के डीएम को निर्देश दिया गया है कि वे 15 दिनों में एक ब्लॉक पूरा खत्म करें तथा उसकी रिपोर्ट तैयार करें जिसमें विस्तृत में उल्लेख होना चाहिए कि किस गांव में कितनी समस्या थी तथा कितनों का समाधान तुरंत या बाद में किया गया। यह पूरा कार्यक्रम तीन चरणों में किया जा रहा है। इस सरकारी अभियान का हिस्सा जिला स्तर पर पुलिस को भी बनाया गया है। इसमें एसपी थाना स्तर पर लोगों को सेल्फ-हेल्प का प्रशिक्षण दे रहे हैं जिसके कारण लोगों को रोजगार मिल रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीएए और एनआरसी को लेकर मेयर ने बोला हमला

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मेयर और मंत्री फिरहाद हकीम ने सीएए और एनआरसी को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला। रविवार को रक्तदान आगे पढ़ें »

ईस्ट वेस्ट मेट्रोः इस महीने शुरु होने की उम्मीदें बढ़ीं

नए जीएम ने मेट्रो परियोजना का किया निरीक्षण सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः साल्टलेक स्टेडियम से साल्टलेक सेक्टर-5 तक मेट्रो परियोजना के शुरू होने की उम्मीदें एक बार फिर आगे पढ़ें »

ऊपर