मुकुल को अब भी पछतावा कि कैसे फिसली जुबान?

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः मुकुल रॉय की जुबान से निकली एक बात पूरे सोशल मीडिया से लेकर लोगों में चर्चा का विषय बनी हुई है। शुक्रवार को कृष्णानगर में मीडिया के सामने उन्होंने अपने वक्तव्य में भूलवश तृणमूल की जगह बीजेपी की जीत की बात कह दी थी। हालांकि बाद में उन्होंने इसमें सुधार किया। मुकुल ने शनिवार को कहा कि, “जो हुआ वह नहीं होना चाहिए था।” वहीं अपने पिता के बयान को लेकर शुभ्रांशु राय ने भी शनिवार को कहा कि “मेरे पिता मां के जाने के बाद से थोड़ा सदमे में हैं। वह अब भी इससे उबर रहे हैं।” मां के देहांत का असर उनके शरीर पर पड़ा है।” उनके शब्दों में, “पिता के शरीर में सोडियम-पोटेशियम संतुलन में गड़बड़ी है। अक्सर बहुत सी बातें उन्हें याद नहीं आ रही हैं। वह कई घटनाओं को भूल जा रहे हैं। हम उनके शरीर को लेकर बहुत चिंतित हैं। मुकुल, हालांकि, यह मानने से हिचक रहे हैं कि वह बीमार हैं। उन्होंने कहा कि”मेरा शरीर ठीक है।” उन्होंने कहा कि कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन जो हुआ वो नहीं होना चाहिए था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

भवानीपुर में तृणमूल समर्थक के संदेह में दो कॉलेज छात्रों पर हमला

भाजपा पर लगा आरोप सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार की रात तृणमूल समर्थक होने के संदेह में दो कॉलेज छात्रों की जमकर पिटायी कर दी गयी। घटना आगे पढ़ें »

ऊपर