राजीव की वापसी पर सांसद ने उठाये सवाल

कल्याण बनर्जी ने पूछा, दुर्नितिग्रस्त को क्यों लिया गया पार्टी में
राज्य के मंत्री अरूप राय व डोमजूड़ के विधायक ने कुछ भी कहने से किया इनकार
हुगली/हावड़ा : राज्य के पूर्व मंत्री व डोमजूड़ के पूर्व ​विधायक राजीव बनर्जी तृणमूल कांग्रेस में दोबारा शामिल हो गये। हालांकि उनके पार्टी में आने से पहले तृणमूल के नेता व कर्मी लगातार उनका विरोधकर रहे थे। हर कोई उन्हें ग​द्दार कह रहा था लेकिन पार्टी के उच्चस्तर के नेताओं के समक्ष किसी की न चली और अंत में राजीव वापस पार्टी में आ गये। इधर उनके पार्टी में आने पर किसी ने सवाल किया तो किसी ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। सबसे पहले अगर बात की जाये। श्रीरामपुर के सांसद कल्याण बंधोपाध्याय की तो राजीव के पार्टी में शामिल होते हुए उन्होंने अपना एक ​वीडियो बयान जारी करते हुए पूछा की आखिरकार इस दुर्नीती ग्रस्त व्यक्ति को पार्टी में वापस क्यों लिया गया। उन्होंने राजीव के वापस लौटने के कुछ ही घंटों के भीतर उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया। कल्याण बनर्जी ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान ममता दीदी ने कहा था कि राजीव बंधोपाध्याय के तीन चार मकान गरियाहाट में है। दुबई से वे पैसे का लेनदेन करते हैं। इसके बावजूद राजीव बनर्जी को पार्टी में क्यों वापस लिया गया इसका जवाब शीर्ष नेतृत्व में बैठे लोग ही दे सकते हैं। कल्याण ने कहा अभिषेक बनर्जी ने भी कहा था पार्टी के किसी कार्यकर्ता के मन को चोट पहुंचाकर किसी विश्वासघाती को पार्टी में वापस नहीं लिया जाएगा, लेकिन किसी ने अपनी बात नहीं रखी। मैं तृणमूल कांग्रेस का एक कार्यकर्ता हूं। पार्टी में रहने के लिए मुझे पार्टी के फैसले को मानना होगा, लेकिन राजीव बनर्जी जैसे भ्रष्ट व्यक्ति को पार्टी में क्यों शामिल किया गया, इसका कारण मैं नहीं जानता। तृणमूल सांसद के इस बयान के बाद हुगली जिले में तृणमूल कांग्रेस में ही लोग राजीव बनर्जी के समर्थन और विरोध के दो खेमों में बांट गए हैं। इधर हावड़ा में तृणमूल के शीर्ष नेताओं ने चुपी साध ली है। राजीव बनर्जी के पार्टी में लौटने पर उन्होंने अपनी कोई प्रतिक्रियाएं नहीं दी। इस विषय में जब राज्य के मंत्री अरूप राय से बातचीत की गयी तो उन्होंने साफ कह दिया कि ‘नो कमेंट’। इसके बाद हावड़ा के तृणमूल जिलाध्यक्ष कल्याणेंदु घोष ने भी कहा कि इस विषय पर वह कुछ भी नहीं कहना चाहते हैं। गौरतलब है कि डोमजूड़ के विधायक हाेने के बाद कल्याणेंदु घोष व उनके समर्थकों ने लगातार दीवार लेखन व रोड पर प्रदर्शन करके विरोध जताया था। इसके अलावा बीरभूम के तृणमूल नेता अणुव्रत मंडल ने राजीव का पार्टी में स्वागत किया और कहा कि उन्हें बुद्धि आयी। इधर भाजपा नेता अनुपम हाजरा ने कहा कि जितनी जल्दी पाप का घड़ा भरे और पापी लोग पार्टी छोड़े तो अच्छा होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

चावल के इन उपाय से दूर कर सकते हैं धन संबंधित …

कोलकाताः आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं लेकिन फिर भी कोई न कोई कमी आगे पढ़ें »

ऊपर