पति से झगड़े के बाद मां ने दो शिशुओं के साथ तलाब में डूबकर की खुदकुशी

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर जिले में गुरुवार को एक दिल दहलाने वाली घटना घटी है। पारिवारिक कलह के चलते मां ने दो शिशुओं के साथ तलाब में डूबकर आत्महत्या कर ली है। इस घटना की जानकारी मिलते हुए पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है। मृतकों की पहचान जुलाखा खातून (32) और उनके दो शिशुओं राहुल अंसारी (3) और रोहित अंसारी (2) के रूप में हुई है। स्थानीय लोगों को गुरुवार की सुबह तालाब में मां और बच्चे का शव मिला। बाद में पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मृतकों के शव को जब्त कर लिया है और उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस ने इस मामले में मामला दर्ज किया है और मृतक के परिवारवालों से पूछताछ शुरू की है। यह घटना दक्षिण दिनाजपुर जिले के महाबरी ग्राम पंचायत के बंशीहारी थाना इलाके में घटी है। प्राप्त जानकारी के अुसार दक्षिण दिनाजपुर जिले के महाबरी ग्राम पंचायत के बंशीहारी थाना के पंजरीपारा क्षेत्र के एक तालाब से गुरुवार सुबह एक मां और उसके दो बच्चों का शव बरामद किया गया।
बिहार में राजमिस्त्री का काम कर रहे पति के साथ फोन पर हुआ था झगड़ा
प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतका के पति नेमुउद्दीन अंसारी का घर दक्षिण दिनाजपुर जिले के बंशीहारी थाना क्षेत्र के महाबारी ग्राम पंचायत पंजरीपारा इलाके में है। वह पेशे से प्रवासी मजदूर है। मृतका जुलाखा खातून की काफी समय पहले नेमुउद्दी अंसारी से शादी हुई थी। उनके दो बच्चे हैं। उनके दोनों बेटों में छोटा बेटा रोहित अंसारी पिछले कुछ समय से बीमार था। इस बीच पति नेमुउद्दीन अंसारी, जो राजमिस्त्री का काम करता है, फिलहाल बिहार में है। बीमार बेटे के इलाज के लिए पति और पत्नी की मोबाइल पर तकरार हो गई। पत्नी पति को गांव आकर बच्चे का इलाज कराने कह रही थी। इसे लेकर दोनों के बीच जमकर कहा-सुनी हुई। उसके बाद जुलेखा खातून अपने दोनों बच्चों को लेकर घर से बाहर निकल गई। आज सुबह घर से कुछ दूरी पर खेत में दो शिशुओं के साथ तालाब से तीन शव बरामद किए गए।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बुधवार के दिन कैसे करें श्री गणेश को प्रसन्न…

कोलकाता : भगवान गणेश को अतिप्रिय है बुधवार का दिन। शीघ्र फलदायी होती है बुधवार की गणेश पूजा। शास्त्रों में भगवान गणेश जी को विघ्नहर्ता आगे पढ़ें »

ऊपर