गंगासागर में 3.5 लाख से अधिक पुण्यार्थियों ने लगायी आस्था की डुबकी

गंगासागर : शुक्रवार को मकर संक्रांति के अवसर पर गंगासागर में 3.5 लाख से अधिक पुण्यार्थियों ने आस्था की डुबकी लगायी। हालांकि कोविड-19 के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए आरटीपीसीआर टेस्ट भी किया जा रहा था। दक्षिण 24 परगना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि डबल डोज वैक्सीन अथवा निगेटिव रिपोर्ट वालों को ही प्रांगण में गंगासागर मेला में जाने की अनुमति दी जा रही थी। शुक्रवार की दोपहर 12.34 बजे से शनिवार की दोपहर 12.34 बजे तक पुण्य स्नान का शुभ मुहूर्त है। हालांकि आधी रात से ही गंगासागर में तीर्थयात्रियों ने आस्था की डुबकी लगानी चालू कर दी। देश के वि​भिन्न हिस्सों से लाखाें की संख्या में पुण्यार्थी ठण्ड, बारिश और तेज हवाओं को दरकिनार करते हुए गंगासागर में पहुंचे थे और यहां उन्होंने मकर संक्रांति के अवसर पर पुण्य स्नान किया। इस दौरान तीर्थयात्रियों ने कपिल मुनी मंदिर में पूजा-अर्चना भी की। स्थानीय लोगों के अनुसार, आपदा प्रबंधन और सिविल डिफेंस के कर्मी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करवा रहे थे। जिला प्रशासन ने दावा किया कि अधिकांश तीर्थयात्रियों ने निर्देशों का पूरी तरह पालन किया। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘आरटीपीसीआर टेस्ट और डबल वैक्सीनेशन के बगैर हम किसी को अनुमति नहीं दे रहे हैं। कोलकाता के बाबूघाट और दक्षिण 24 परगना व नामखाना के लॉट नं. 8 समेत सभी एंट्री प्वाइंट पर लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही थी।’ जानकारी के अनुसार, इस दिन 3.5 लाख पुण्यार्थियों ने आस्था की डुबकी लगायी। कलकत्ता हाई कोर्ट द्वारा कोविड नियमों का पालन करवाने के लिए मेला प्रांगण में दो सदस्यीय पैनल का गठन किया गया है जिनकी टीम ने मेला प्रांगण में सभी तैयारियों का जायजा लिया। रिटायर्ड जस्टिस समाप्ति चट्टोपाध्याय और वेस्ट बंगाल स्टेट लीगल सर्विसेज अथॉरिटी के एक सदस्य इस कमेटी में शामिल हैं जिन्होंने स्थानीय प्रशासन से कहा कि अधिक भीड़ ना होने दी जाए।
ये कहा तीर्थयात्रियों ने
झारखंड धनबाद से पहली बार आए कमल अग्रवाल ने बताया कि राज्य सरकार और जिला प्रशासन द्वारा कोरोना के बावजूद गंगासागर मेले का आयोजन सराहनीय है। बिहार के छपरा से पहली बार आए उमेश चौबे ने बताया कि सरकार की व्यवस्था बहुत ही उन्नत है। महेशतला के आंकड़ा के रहने वाले अमर सिंह यादव ने बताया कि वह अपने बुजुर्ग फूफा और फुआ को यूपी के जौनपुर से पहली बार गंगासागर मेला लाकर कपिल मुनि मंदिर का दर्शन करवा रहे हैं। उन्हें आने-जाने और रास्ते में कोई परेशानी नहीं हुई।
सागर में एनडीआरएफ की टीम ने लगायी गश्त
मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर गंगासागर के तट पर एनडीआरएफ की टीम ने बारी-बारी से गश्त लगाकर तीर्थयात्रियों की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। सागर तट पर किसी तरह को कोई दुर्घटना नहीं हुई है।
सुंदरवन पुलिस की ओर से माइकिंग
सुंदरवन पुलिस की ओर से कोरोना को लेकर माइकिंग कर समुद्र तट पर घूम रहे तीर्थयात्रियों को मास्क, सैनिटाइजर और 2 गज की दूरी बनाने को लेकर बार-बार सतर्क किया जा रहा है। इस बीच काफी संख्या में कोरोना गाइडलाइन का अनुपालन कर पूजा अर्चना और कपिल मुनि मंदिर का दर्शन करते हुए लोगों को देखा गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ी खबर : अगले दो से तीन महीनों में तैयार हो जायेगा टाला ब्रिज

कोलकाता : अगले दो से तीन महीनों में टाला ब्रिज तैयार हो जायेगा। लोगों के लिए इस नये ब्रिज को चालू कर दिया जायेगा। शुक्रवार आगे पढ़ें »

ऊपर