महीनों बीते, बाधाओं ने रोकी न्यू गरिया-एयरपोर्ट मेट्रो कॉरिडोर के काम की रफ्तार

वीआईपी रोड पर अनुमति बनी ‌परियोजना कार्य में बाधा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः बहुप्रतीक्षित मेट्रो परियोजना न्यू गरिया-एयरपोर्ट मेट्रो कॉरिडोर को कुछ आवश्यक अनुमति न मिलने के कारण समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। बाधाओं के कारण कुछ जगहों पर काम की रफ्तार कुछ धीमी हो चली है। इस कारण परियोजना को समय पर पूरा करना बड़ी चुनौती हो सकती है।
धीमी गति से भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया न्यू गरिया-एयरपोर्ट मेट्रो परियोजना को खतरे में डाल रही है। इस कारण कई जगहों पर काम प्रभावित हुआ है। भूखंड का अधिग्रहण किया जाना कुछ जगहों पर बाकी है, जिससे समय और लागत बढ़ गई है।
अगले साल शुरू करना है पहला चरण
वास्तव में, अगले साल की शुरुआत में कवि सुभाष (न्यू गरिया) से हेमंत (रूबी) तक एक छोटा मेट्रो संचालन शुरू किया जाना है। आधिकारिक सूत्रों की मानें तो “काम पूरा करने के लिए प्रबंधन समय से बाहर चल रहा है। लंबी कानूनी लड़ाई के बाद न्यू गरिया मेट्रो स्टेशन को यार्ड से जोड़ने के लिए रैंप बनाने के लिए जमीन दिलाने में प्रबंधन कामयाब रहा है। परियोजना को लागू करने वाली एजेंसी रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) के एक अधिकारी ने कहा, परियोजना के तहत पहले चरण को चालू करने के लिए जल्द से जल्द वीआईपी रोड में जमीन के एक बड़े हिस्से की जरूरत है।” इसके लिए सरकार की ओर से आवश्यक अनुमति भी मिल चुकी है। इसके बावजूद हमें जमीन नहीं मिलने से काम की गति प्रभावित हो रही है।
एयरपोर्ट तक जाएगी मेट्रो, बदल जाएगी शहर की सूरत
मेट्रो परियोजना न्यू गरिया से लेकर विमानबंदर (एयरपोर्ट) तक है। करीब 30 कि.मी. का सफर नागरिकों के हवाई अड्डे और शहर के दक्षिणी छोर से यात्रा करने के तरीके को बदल देगा। इससे शहर की सूरत बदल जाएगी। मेट्रो परियोजना के काम की गति पर कोविड महामारी ने भी असर डाला है। कोविड ने परियोजना को एक गंभीर झटका दिया है। न्यू गरिया स्टेशन हब का काम जोरों पर है। स्टेशन व डिपो के काम चल रहे हैं।
मेट्रो परियोजना में ज्यादातर स्टेशन एलिवेटेड (ऊपरी तल) हैं। एक स्टेशन सर्फेश व एक अंडरग्राउंड होगा। कुल 24 मेट्रो स्टेशन परियोजना में शामिल हैं। पहले चरण में 5.4 कि.मी. की यात्रा में न्यू गरिया (कवि सुभाष), सत्यजीत रे (हाईलैण्ड पार्क), ज्योतिंद्रनाथ नंदी (मुकुंदपुर), कवि सुकांत (कालिकापुर), हेमंत मुखर्जी (रूबी तक) मेट्रो स्टेशन शामिल हैं।
इन आंकड़ों पर नजर
कुल परियोजना-करीब 30 कि.मी.
पहला चरण-5.4 कि.मी.
कुल स्टेशन-24

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अलीपुर के बस्ती में लगी आग, तीन बच्चे सहित 4 झुलसे

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अलीपुर थानांतर्गत चेतलाहाट रोड स्थित बस्ती में आग लग गयी। मौके पर पहुंचे दमकल के इंजनों ने आग पर काबू पाया। इस आगे पढ़ें »

ऊपर