मंकीपॉक्स : आईडी और ट्रॉपिकल में अलग बेड है तैयार

स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों को किया सतर्क
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : मंकीपॉक्स के मामले देश भर में बढ़ रहे हैं। इस बीच भारत में कुल 9 लोगों में मंकीपॉक्स का वायरस मिला है जिसमें एक व्यक्ति की मौत भी हो गयी है। ऐसी स्थिति में अन्य राज्यों के समान पश्चिम बंगाल में भी मंकीपॉक्स का मुकाबला करने के लिए स्वास्थ्य विभाग तैयार है। मंकीपॉक्स से संक्रमितों के इलाज के लिए कोलकाता के बेलियाघाटा आईडी अस्पताल को तैयार रखा गया है। वायरस संक्रमितों के इलाज के लिए अलग बेड का इंतजाम वहां किया गया है। जो इस वायरस से संक्रमित होंगे अथवा जिनके शरीर में इसके लक्षण पाये जायेंगे, उनके इलाज के लिए स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन में भी आइसोलेशन बेड की व्यवस्था रखने का निर्देश दिया गया है। कोलकाता के साथ ही राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों को तैयार रहने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग ने दिया है। वायरस से संक्रमित व ​ऐसे मरीज जिनमें लक्षण हैं, उनके इलाज के लिए अस्पतालों में आइसोलेशन बेड की व्यवस्था रखने का निर्देश दिया गया है। सभी मुख्य स्वास्थ्य अधिकारियों को इसे लेकर सतर्क किया गया है। प्रत्येक जिलों के तहत कम से कम एक अस्पताल में आइसोलेशन बेड की व्यवस्था रखने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग ने दिया है। मंकीपॉक्स के लक्षण जिनमें हैं, उनका नमूना संग्रह के लिए माइक्रोबायोलॉजी विभागों को तैयार रहने का निर्देश भी दिया गया है।
अस्पतालों को केस रिकॉर्ड फॉर्म भरने का निर्देश
स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी अस्पतालों को निर्देशिका जारी की गयी है जिसमें किसी भी संदिग्ध मामले के लिए केस रिकॉर्ड फॉर्म भरने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही संदिग्ध मरीज की विस्तृत ट्रैवल हिस्ट्री, किस एयरपोर्ट पर वह उतरा था, किन – किन एयरपोर्ट से होकर उसने यात्रा की, किसी लक्षण वाले या संदिग्ध मरीज के संपर्क में आने की हिस्ट्री, फिजिकल कांटैक्ट की हिस्ट्री जैसे विवरण केस रिकॉर्ड फॉर्म में भरने को कहा गया है।
हेल्थ विंग को करें सूचित
स्वास्थ्य विभाग की ओर से यह भी कहा गया है कि कोई संदिग्ध/संभावित मामला मिलने पर डिस्ट्रिक्ट पब्लिक हेल्थ विंग और केएमसी इलाकों के लिए म्यूनिसिपल सर्विलेंस ऑफिसर को सूचित करें।
लक्षण और मामले
किसी भी उम्र का व्यक्ति जिसकी गत 21 दिनों में प्रभावित देशों में ट्रैवल की हिस्ट्री रही हो। इसके अलावा शरीर पर रैश, सूजा हुआ लिंफ नोड, बुखार, सिर दर्द, शरीर में दर्द और काफी अधिक कमजोरी मंकीपॉक्स के लक्षण बताये गये हैं। वहीं संभावित मामलों की बात करें तो किसी संदिग्ध या प्रभावित व्यक्ति से फेस टू फेस एक्सपोजर अथवा बगैर पीपीई किट के किसी संदिग्ध से मिलना भी संभावित मामला हो सकता है। कंफर्म्ड मामलों में केवल वही मामले हैं जो पीसीआर टेस्ट के बाद पॉजिटिव पाये जाते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंग: अलविदा राकेश झुनझुनवाला, ब्रीच कैंडी अस्पताल में आखिरी सांस ली

मुंबई: दलाल स्ट्रीट के बिग बुल राकेश झुनझुनवाला का आज सुबह निधन हो गया। मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल ने सुबह 6 बजकर 45 मिनट आगे पढ़ें »

ऊपर