नारदा कांडः तो क्या मोदी-शाह के निर्देश पर हुई गिरफ्तारी

कोलकाताः नारदा कांड मामले में सीबीआई द्वारा मंत्री सुब्रत मुखर्जी, मंत्री फिरहाद हकीम, पूर्व मेयर शोभन चटर्जी और विधायक मदन मित्रा की गिरफ्तारी को लेकर टीएमसी समर्थकों में गुस्सा है। इस मामले में टीएमसी ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी-शाह के निर्देश पर गिरफ्तारी हुई है, हालांकि भाजपा ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि सीबीआई इसकी जांच सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर कर रही थी। दूसरी ओर, हमले की आशंका के मद्देनजर भाजपा कार्यालय की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। विधानसभा चुनाव के दौरान विभिन्न घोटालों को लेकर आरोपों में घिरी ममता बनर्जी और उनके मंत्रियों पर आरोप लगाते रही बीजेपी के बाद अब सीबीआई ने उनके मंत्रियों और नेताओं पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। नारदा स्टिंग मामले में सीबीआई ने मंत्री सुब्रत मुखर्जी, मंत्री फिरहाद हकीम, पूर्व मेयर शोभन चटर्जी और एमएलए मदन मित्रा को गिरफ्तार कर लिया है और आज उनके खिलाफ चार्जशीट दायर किया जाएगा।

हार नहीं स्वीकार कर पा रही है भाजपा

टीएमसी नेता तापस रॉय ने कहा, ‘राजनीतिक बदला अभी भी जारी है। लोगों ने न्याय किया है। हालांकि, वे ऐसा इसलिए कर रहे हैं क्योंकि चुनाव के बाद भी वे एक बड़ी हार को स्वीकार नहीं कर सके। उन्होंने इस घटना में सीधे भाजपा पर उंगली उठाई। वहीं सौगत रॉय ने इसका जवाब देते हुए सीधे तौर पर नरेंद्र मोदी और अमित शाह का नाम लिया। उन्होंने कहा, ”गिरफ्तारी मोदी शाह के निर्देश पर की गई है। उन्होंने दावा किया कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि सीबीआई क्या कह रही है। सीबीआई भाजपा की तोता है। उन्होंने कहा, “अगर उन्हें गिरफ्तार किया जाता है, तो उनसे अदालत में निपटा जाएगा।

गिरफ्तारी से भाजपा का कोई संबंध नहीं

दूसरी ओर बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष राहुल सिन्हा ने कहा कि टीएमसी के नेताकी गिरफ्तारी से बीजेपी का कुछ लेना नहीं है। सर्वोच्च न्यालाय के निर्देश पर टीएमसी के नेता को गिरप्तार किया है, जो आज प्रतिहिंसा की राजनीति बोल रहे हैं। चुनाव जीतने के बाद भाजपा के लाखों कार्यकर्ताओं पर हमला किया जा रहा है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

5000 हेल्थ अस्टिटेंट को दी जाएगी मरीजों की देखभाल की ट्रेनिंग : केजरीवाल

नई दिल्ली : राज्यों ने जानलेवा कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। इसी क्रम में दिल्ली सरकार भी आगे पढ़ें »

पशुपति पारस के घर पर प्रदर्शन, रद्द हुई चिराग की प्रेस कॉन्फ्रेंस

पटना : बिहार की राजनीति में एकाएक हलचल बढ़ने लगी है। लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में टूट हो गई है और अब वर्चस्व की लड़ाई आगे पढ़ें »

ऊपर