चायश्रमिकों को न्यूनतम वेतन 350 रुपये किया जायेगाः अमित शाह

1000 करोड़ की लागत से पर्यटन उद्योग का चहुंमुखी विकास किया जायेगा
दार्जिलिंगः चायश्रमिकों का न्यूनतम वेतन 350 रुपये किया जायेगा। केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दार्जिलिंग और कर्सियांग से भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में स्‍थानीय लेबोंग स्टेडियम में आयोजित जनसभा में यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि देश में पहले औद्योगिक गतिविधियों के केन्द्र रहे चायबागानों की हालत सुधारने में किसी सरकार ने कभी दिलचस्पी नहीं ली। 1897 में दार्जिलिंग शहर ही था जहां पहली बार बिजली आयी थी। 1850 में मद्रास के बाद दार्जिलिंग दूसरा ऐसा शहर था जिसे नगर पालिका में तब्दील किया गया था। आज यहां विकास ठप है। हुक्मरानों ने इसे महज आरामगाह बनाकर रख दिया था। इसके विकास पर कभी ध्यान ही नहीं दिया। उन्होंने कहा कि एक बार मोदी जी को आप समर्थन दे दीजिए फिर देखिये विकास कैसे होता है।
छह माह में मिलेगा जमीन का पट्टाः केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि चाय और सिन्कोना बागानों के श्रमिकों को आगामी छह माह में ही जमीन के पट्टे जारी कर दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि चायबागानों के श्रमिकों के लिए पक्के मकान, स्वास्‍थ्य सेवा, पेयजल और प्राइवेट स्‍कूल के लिए एक हजार करोड़ रुपये केन्द्र सरकार ने आवंटित किये हैं। भाजपा इसे चायबागानों के श्रमिकों पर खर्च करेगी।
पेयजल की समस्या दूर होगीः केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि दार्जिलिंग की सबसे बड़ी समस्या पेयजल की है। यहां जल संचय की परियोजना लगाकर हर घर को पेयजल उपलब्‍ध कराने का काम भाजपा की सरकार करेगी। इसके लिए 600 करोड़ की लागत से पेयजल परियोजना शुरू की जायेगी।
सिन्कोना बागानों का होगा पुनरुद्धारः देख-रेख के अभाव में सिकुड़ रहे सिन्कोना बागानों के पुनरुद्धार की बात केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने की। उन्होंने कहा कि यहां औषधीय पौधे लगाकर पूरे विश्व में इसकी बेहतर मार्केटिंग की जायेगी। 10 हजार लोगों को यहां रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जायेंगे। इसके साथ ही यहां के नागरिकों को फारेस्ट राइट एक्ट के तहत प्रदत्त सभी अधिकार भी प्रदान किये जायेंगे। एडीआई फंड की व्यवस्‍था भी समाप्त कर दी जायेगी।
एजुकेशन हब बनेगा पहाड़ः केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि पहाड़ एक बार फिर शिक्षा के क्षेत्र में अपनी खोयी हुयी गरिमा को प्राप्त करेगा। इसे एजुकेशन हब के तौर पर विकसित किया जायेगा। इसे शिक्षा के क्षेत्र में वैश्विक स्तर पर हब के रूप में विकसित किया जायेगा। वहीं समतल में केन्द्रीय विश्वविद्यालय बनाने की बात भी गृह मंत्री ने की।
पर्यटन का चहुंमुखी विकास होगाः केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि दार्जिलिंग सहित इस पूरे क्षेत्र को पर्यटन के वैश्विक मानदंड पर सजाया जायेगा। केन्द्र सरकार पर्यटन के विकास के लिए एक हजार करोड़ की राशि प्रदान करेगी। यहां हिमालयन बौद्ध टूरिज्म सर्किट , पिन आफ हिल्स टूरिज्‍म सर्किट और राजवंशी पर्यटन सर्किट बनाकर पर्यटन क चहुंमुखी विकास पर जोर दिया जायेगा। आतिथ्य व्यवस्‍था के तहत हम कई योजनाओं को जारी करेंगे। इसके लिए केन्द्र सरकार 50 लाख रुपये तक के लोन की व्यवस्‍था भी करायेगी। इस पर तीन सालों तक टैक्स नहीं लिया लायेगा।
नगर निगम में तब्दील होगा दार्जिलिंगः दार्जिलिंग नगर पालिका को नगर निगम में तब्दील करने की बात केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने की। उन्होंने कहा कि इससे शहर का तेजी से विकास हो सकेगा। उन्होंने आगामी छह माह के अंदर ही दार्जिलिंग-कालिम्पोंग में पंचायत चुनाव कराकर गांव की शासन व्यवस्‍था को पंचायती राज के तहत लाने की बात कही।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुसाइड प्वाइंट बनता जा रहा है विद्यासागर सेतु

हावड़ा ब्रिज पर रेलिंग लगने के बाद यहां पर लोगों की संख्या बढ़ी पिछले दो महीने में 5 लोगों को पुलिस ने आत्महत्या करने से बचाया सन्मार्ग आगे पढ़ें »

कोरोना संक्रमित पिता के इलाज खर्च जुगाड़ नहीं कर पाया, बेटा कुएं में कूद कर मरा

सन्मार्ग संवाददाता दुर्गापुर : प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित पिता के इलाज का खर्च नहीं उठा पाने से तनावग्रस्त बेटे ने कुआं में कूदकर आत्महत्या आगे पढ़ें »

ऊपर