मिदनापुर की सभी 35 सीटों पर हरायेंगे तृणमूल को – शुभेंदु

7 की रैली का जवाब 8 को नंदीग्राम में सभा कर दूंगा
कोलकाता : गुरुवार को भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी के नेतृत्व में कोंटाई मेचेदा बाईपास से सेंट्रल बस स्टैंड तक रोड शो का आयोजन किया गया जिसके बाद उन्होंने सभा को संबोधित किया। शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि मिदनापुर की सभी 35 सीटों पर तृणमूल को हरायेंगे। उन्होंने कहा कि गोपीबल्लभपुर के दिलीप घोष और कांथी के शुभेंदु ने हाथ मिलाया है तो कमल खिलाकर रहेंगे। इसके साथ ही 7 जनवरी को नंदीग्राम में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की रैली के जवाब में 8 काे उन्होंने नंदीग्राम में सभा करने की बात भी कही। उन्होंने कहा, ‘आप 7 को भाषण दें, मैं 8 को सभा कर सबका जवाब दूंगा। आप सरकारी क्षमता से लोगों को लायेंगी और मेरी सभा में प्रेम और भावनाओं से लोग आयेंगे।’ वहीं राज्य के मंत्री फिरहाद हकीम का नाम लिये बगैर शुभेंदु ने कटाक्ष किया कि उपचुनाव में टिकट नहीं मिला था तो उन्होंने मुख्यमंत्री के खिलाफ विद्रोह की घोषणा कर दी थी।
मेरा निर्णय सही था, लग गयी जनता की मुहर
सभा को संबोधित करते हुए शुभेंदु अधिकारी ने कहा, ‘मैं 49 से 51 करने आया हूं। आम जनता अपनी इच्छा से सड़क पर निकली है, लोगों की भीड़ देखकर मैं निश्चित हो गया कि मेरा निर्णय गलत नहीं था, इसमें जनता की मुहर मिल गयी। जनतंत्र में आम जनता ही अंतिम बात कहती है। मैं मिदनापुर का भूमिपुत्र हूं और कभी गलत निर्णय नहीं लेता। मैं सभी पद छोड़कर और तृणमूल की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देकर आम वोटर के तौर पर भाजपा में आया।’
तृणमूल के पैरों का कांटा बना शुभेंदु
शुभेंदु अधिकारी ने कहा, ‘मिदनापुर की मिट्टी में आकर दीदी मुनी और उनके लोग कहते हैं कि वह हजारों शुभेंदु तैयार कर लेंगी। अगर सच में ऐसा है तो दीदी मुनी और उनके मंत्री यहां आकर क्यों बैठे हुए हैं। असल में ये शुभेंदु उनके पैरों का कांटा बन गया है। तृणमूल कहती है कि वर्ष 2011 के बाद से उन्होंने कांथी मुझे लीज पर दे दी है, लेकिन 2011 से पहले वे नेता कहां थे ?’
केवल भाषण देने से नहीं होता नंदीग्राम आंदोलन
भाजपा नेता शुभेंदु ने कहा ​कि नंदीग्राम आंदोलन के समय ये नेता कहां थे ? केवल पुलिस की सुरक्षा में आकर भाषण देकर चले जाते थे। केवल भाषण देने से नंदीग्राम आंदोलन नहीं होता है।
दक्षिण कोलकाता के 4-5 लोग चला रहे हैं सरकार
सौगत राय का नाम लिये बगैर कटाक्ष करते हुए शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि साढ़े 9 वर्षों में कभी अध्यापक राय को तृणमूल ने पत्ता नहीं दिया, लेकिन अब शुभेंदु नहीं है तो उन्हें पत्ता दिया जा रहा है। राज्य के मंत्रियों का नाम लिये बिना कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि केवल दक्षिण कोलकाता के 4-5 लोग मिलकर पूरी सरकार चला रहे हैं।
भाजपा आयी तो 10 साल जाएंगे कम्पल्सरी वेटिंग में
शुभेंदु ने कहा कि भाईपो ने कांथी में कैडर पुलिस भेजी है। भाजपा सत्ता में आयी तो ऐसे पुलिस कर्मियों को 10 साल कम्पल्सरी वेटिंग में भेजा जाएगा। मुझे डर ना दिखायें, मैंने नंदीग्राम की लड़ाई की है, किसन जी के साथ लड़ने वाला व्यक्ति हूं।
रिगिंग कर बैरकपुर से जीते थे सौगत
भाजपा नेता ने कहा कि बैरकपुर से रिगिंग कर अध्यापक राय जीते थे। वह कहते हैं कि मैं हार गया था, लेकिन जब कोई लखन सेठ के खिलाफ लड़ने को तैयार नहीं हुआ तो मैंने लड़ाई की। किरणमय नंदा के खिलाफ कोई नहीं खड़ा होना चाहता था तो मैं खड़ा हुआ था। अध्यापक राय को शायद यह याद नहीं कि वह भी ​क्षिति गोस्वामी के सामने हार गये थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्रिकेटरों के लिये महीनों बायो बबल में रहना कठिन है : फिंच

मेलबर्न: आस्ट्रेलिया के सीमित ओवरों के कप्तान आरोन फिंच ने बायो बबल में रहकर खेलने पर चिंता जताते हुए कहा है कि परिवार वाले क्रिकेटरों आगे पढ़ें »

बड़ी खबर: आईपीएल 2021 के लिए 18 फरवरी को चेन्‍नई में लगेगी खिलाड़ियों पर बोली

नई दिल्‍लीः आईपीएल 2021 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी 18 फरवरी को चेन्‍नई में होगी। आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने बुधवार को आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर आगे पढ़ें »

ऊपर