महानगरः पूछ रहे हैं लोग, अब बारिश भी चली गयी, फिर कब बनेंगे गड्ढे

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बारिश भी चली गयी, लेकिन गड्ढे अब भी ज्यों के त्यों हैं। दुर्गा पूजा के समय किसी तरह गड्ढों में ईंटे भरकर या फिर केवल पिच डालकर काम चला लिया गया, लेकिन अब लोग पूछ रहे हैं कि जब बारिश चली गयी है तो​ फिर सड़कों की ठीक से मरम्मत क्यों नहीं चालू की जा रही है। महानगर में उत्तर से लेकर दक्षिण तक वि​भिन्न स्थानों पर अब भी सड़कों पर गड्ढे भरे हुए हैं, बारिश का पानी जमा रहने के कारण कहीं-कहीं बाइक सवार गड्ढे समझ भी नहीं पा रहे हैं और इस कारण संतुलन बिगड़कर दुर्घटना का खतरा बना ही हुआ है।
पिच डालने से ऊपर-नीचे हो गयी हैं सड़कें
दुर्गा पूजा के समय में सड़कों पर केवल पिच डालकर गड्ढे भर दिये गये थे। इस कारण सड़कें ऊपर-नीचे हो गयी हैं जिससे बाइक सवारों को अधिक परेशानी हो रही है। दक्षिण कोलकाता में एस्प्लानेड, हे​स्टिंग्स, ईएम बाईपास, बेहला, मुकुंदपुर जैसे इलाकों में कई ऐसी सड़कें मिल जाएंगी जो या तो पिच डालने के कारण ऊपर -नीचे हो गयी हैं या फिर अब भी सड़कों पर गड्ढे हैं। इसी तरह उत्तर कोलकाता में पातीपुकुर, बेलगछिया, लेकटाउन, हल्दीराम, एयरपोर्ट 1 नं. जैसी सड़कों का हाल भी बुरा है।
एयरपोर्ट की ओर जाने वाली सड़क भी बेहाल
आलम कुछ ऐसा है कि कोलकाता एयरपोर्ट जाने वाली सड़क भी बुरी दशा में है। इस कारण लोगों को काफी परेशानियां हो रही हैं। सड़क के खस्ताहाल होने के कारण एयरपोर्ट जाने वाले रास्ते में लंबा जाम भी लग जाता है, विशेषकर सुबह और शाम के समय में लोगों को काफी परेशानियां झेलनी पड़ती हैं।
कब तक केवल गड्ढों को भरकर चलाया जाएगा काम
लोगों का सवाल है कि आखिर कब तक केवल गड्ढों को किसी तरह भरकर काम चलाया जाएगा। राजरहाट से श्यामबाजार रोजाना काम से जाने वाले विनय सिंह ने कहा कि खराब सड़कों के कारण आये दिन बाइक से दुर्घटना का डर बना रहता है। सड़कों की पूरी तरह मरम्मत ना जाने कितने साल पहले हुई थी, पिछले कुछ वर्षों से तो केवल किसी तरह गड्ढों को भरकर या पिच डालकर ही कोटा पूरा किया जा रहा है। इसी तरह बड़ाबाजार से सोदपुर जाने वाले राजू साव ने भी कहा कि खराब सड़कों के कारण काम में जाने में काफी परेशानी होती है। बाइक का संतुलन कब बिगड़ जाए, कोई ठीक नहीं रहता।
पूजा में भी खोदे गये कई गड्ढे
दुर्गा पूजा के दौरान भी पण्डाल बनाने और होर्डिंग के लिए जगह-जगह कई गड्ढे खोदे गये थे, लेकिन अभी तक उन्हें भरा नहीं गया है। पूजा कमेटियों का कहना है कि ये केएमसी का काम है तो वहीं केएमसी कह रही है कि ये काम पूजा कमेटी को ही करना चाहिये। आरोप -प्रत्यारोप तो लगते रहेंगे, लेकिन कुल मिलाकर सवाल ये ही है कि आखिर कब सड़कों की मरम्मत सही ढंग से की जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

रो पड़े रतन मालाकर, कहा…देखें वीडियो

कोलकाताः इस बार वार्ड 73 से तृणमूल कांग्रेस ने ममता की भाभी काजरी बनर्जी को अपना उम्मीदवार बनाया है। वहीं इस वार्ड से टिकट नहीं मिलने आगे पढ़ें »

ऊपर