महानगरः मुम्बई व चेन्नई की उड़ान प्रतिदिन होने से यात्रियों को मिली राहत

फिर से डबल वैक्सीनेशन या आरटीपीसीआर टेस्ट का विकल्प मिला यात्रियों को
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : 1 नवंबर से मुम्बई व चेन्नई से आने वाली उड़ानों को प्रतिदिन करने के बाद अब यात्रियों को काफी सहूलियत मिल रही है। यात्री इसे राज्य सरकार द्वारा दिया गया बेहतरीन तोहफा बता रहे हैं। दिवाली पर काफी लोग अपने घर लौट रहे हैं। ऐसे में इन्हें यात्रा करने में काफी आसानी हो गयी है। इस बारे में ट्रैवेल एजेंटों का कहना है कि अगर ऐसा नहीं किया गया होता तो मुम्बई के लिए कोलकाता से आने व जाने वाली उड़ानों की टिकटों की कीमत आसमान छू रही होती। फेस्टिव सीजन में मेट्रो सिटी से आने व जाने वाली उड़ानों के टिकटों की कीमत काफी बढ़ जाती है। इनमें सबसे अधिक मुम्बई व दिल्ली के उड़ानों की टिकटों के प्राइस होते हैं। दिल्ली की उड़ानों पर से काफी पहले ही प्रतिबंध हटा दिये गये थे। इस कारण इस बार टिकटों की कीमत अंडर कंट्रोल है यानी कि दिल्ली आने व जाने में 6 से 8 हजार के बीच एक साइड का टिकट मिल जा रहा है। इस बारे में ट्रैवेल एजेंट्स एसोसियेशन ऑफ इंडिया, ईस्ट के सेक्रेटरी व एयरकॉम ट्रैवेल्स के चेयरमैन अंजनी धानुका ने कहा कि फिलहाल मुम्बई से कोलकाता आने के टिकटों की कीमतें 15 हजार हैं जबकि कोलकाता से अगर कोई आज जाना चाहता है तो 8 से 10 हजार के बीच के टिकट मिलेंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि दिवाली पर काफी संख्या में मुम्बई से कोलकाता वासी अपने घर लौट रहे हैं। कल दिवाली के लिए काफी लोग अभी भी टिकटें बुक करवा रहे हैं। वहीं चेन्नई की उड़ान के टिकटों की भी कीमत 6.30 से 8 हजार के बीच में उपलब्ध है।
पहले घूम कर आना पड़ रहा था यात्रियों को
मुम्बई व चेन्नई से तीन दिन उड़ान होने के कारण यात्रियों को घूम कर आना पड़ रहा था। मुम्बई के यात्री पास का कोई डेस्टिनेशन लेकर फिर कोलकाता आ रहे थे। कई यात्रियों को बंगलुरु व हैदराबाद तो कई यात्री भुवनेश्वर एयरपोर्ट होकर कोलकाता आ रहे थे। इससे उन्हें कोलकाता आने में ज्यादा समय लग रहा था। इसके अलावा उन्हें अधिक खर्च भी पड़ रहे थे। दुर्गापूजा के पहले डबल वैक्सीनेशन के साथ 5 गंतव्यों से आने वाली उड़ानों के यात्रियों के लिए डबल वैक्सीनेशन के साथ आरटीपीसीआर रिपोर्ट को भी अनिवार्य किया गया था। इसे अब हटा दिया गया है। अब मुम्बई, दिल्ली व चेन्नई से आने वाली उड़ानों के यात्रियों को या तो डबल वैक्सीन या फिर आरटीपीसीआर टेस्ट में से कोई एक का विकल्प फिर से दिया गया है। उल्लेखनीय है कि अचानक कोरोना के बढ़ते मामले तथा फेस्टिव सीजन के मद्देनजर दोनों को जरूरी कर दिया गया था लेकिन अब इसमें यात्रियों को रियायत दी गयी है। वहीं अभी भी पुणे, नागपुर और अहमदाबाद शहरों के लिए उड़ान भरने वाले यात्रियों की मांग है कि इन्हें जल्द से जल्द प्रतिदिन उड़ान में तब्दील किया जाए। अभी भी इन शहरों से कोलकाता आने वाली उड़ानों पर आंशिक प्रतिबंध है यानी कि सप्ताह में तीन दिन सोमवार, बुधवार तथा शुक्रवार को ही उड़ानें इन स्थानों से यहां आ सकती हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

रूपा के बगावती तेवर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता नगर निगम चुनाव का बिगुल बज चुका है। ऐसे में चुनाव की रणनीति तय करने के लिए राजनीतिक पार्टियों के बीच आगे पढ़ें »

ऊपर