जुलाई में होनेवाला था मेट्रो का ट्रायल रन, अब हुआ स्थगित

केवल 9 मीटर का काम था बाकी, अब केएमआरसीएल के कई काम पड़े अधूरे
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : ईस्ट-वेस्ट मेट्रो के पूरे खंड पर ट्रायल रन, एक सुरंग के एक खंड पर ट्रैक बिछाना और बिजली और सिग्नलिंग उपकरण लगाना कुछ ऐसे ही महत्वपूर्ण काम हैं जो 11 मई की दुर्घटना के कारण रुके हुए हैं। इस काम के दौरान हुई दुर्घटना के कारण बहूबाजार की कई इमारतों में दरारें आ गयीं और 150 से अधिक लोगों को विस्थापित कर दिया। यह 38 मीटर अंडरग्राउंड शाफ्ट के 9 मीटर की ढलाई के दौरान हुआ।
जुलाई में होनेवाला ट्रायल रन टला : केएमआरसीएल के जीएम ए. के. नंदी ने कहा कि जुलाई में सेक्टर 5 से लेकर हावड़ा मैदान के बीच 16.5 किलोमीटर की लंबाईवाली ईस्ट-वेस्ट मेट्रो के ट्रायल रन करने की योजना थी। साल्टलेक-बाउंड टनल में पूरे खंड पर ट्रैक बिछाए गए हैं। अधिकारी पूरे मार्ग के लिए सुरंग के माध्यम से ट्रेनों के परीक्षण की योजना बना रहे थे। अब इसे टाल दिया गया है। इस ट्रायल रन से हमें सुरक्षा ऑडिट के लिए अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों को रिपोर्ट जमा करने में मदद मिलती। उनकी टिप्पणियों के आधार पर, यदि कुछ हो तो हम कमियों को दूर करते। एस्प्लेनेड और सियालदह के बीच के खंड में बिजली कनेक्शन नहीं है। इसलिए, केएमआरसीएल स्ट्रेच पर रेक खींचने के लिए बैटरी से चलने वाले इंजनों का उपयोग करने की योजना बना रहा था।
पटरियों को बिछाने में होगी देरी : हावड़ा जाने वाली सुरंग में, सियालदह और एस्प्लेनेड के बीच 2.45 किमी की दूरी पर पटरियां नहीं हैं। अधिकारियों ने बहूबाजार शाफ्ट की ढलाई समाप्त होने के बाद पटरियों को बिछाने की योजना बनाई थी। अधिकारियों ने कहा कि शाफ्ट पर काम ठप होने से ट्रैक बिछाने में देरी होगी। उन्होंने कहा कि हमें पटरियों को बिछाने के लिए दो से तीन महीने चाहिए। जब तक समस्या का समाधान नहीं हो जाता, तब तक इंतजार करना होगा।
क्राॅस पैसेज बनाया जायेगा : यात्रियों काे निकालने और अन्य कारणों से क्रॉस पैसेज दो सुरंगों को कई बिंदुओं पर जोड़ते हैं। केएमआरसीएल के एक अधिकारी ने कहा कि यदि सुरंगों में से एक में आग लग जाती है, तो ट्रेन से निकाले गए यात्रियों को क्रॉस मार्ग से दूसरी सुरंग में ले जाया जाएगा। सियालदह और एस्प्लेनेड के बीच के खंड में पांच क्रॉस पैसेज होंगे। हादसे के बाद तीन पर काम ठप हो गया है।
बिजली उपकरण व सिग्नलिंग का काम अधूरा : अधिकारी ने कहा कि हमने जनवरी 2023 तक पूरे मार्ग पर सिग्नलिंग और बिजली के उपकरण लगाने की योजना बनाई थी। दुर्घटना के कारण, हमें यकीन नहीं है कि हम काम कब पूरा कर पाएंगे। हावड़ा मैदान और राइटर्स के बीच सुरंग के अंदर स्थापना का काम पूरा हो गया है। जमीन के ऊपर का काम भी 80 फीसदी पूरा हो चुका है और दुर्घटना के बावजूद जारी रहेगा। हालांकि एस्प्लेनेड और सियालदह के बीच के काम को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा से पहले नये कलेवर में सजेगा बंगाल का होम स्टे

 नजर होम स्टे पर 80% होम स्टे उत्तर बंगाल में हैं, 20% दक्षिण बंगाल में इन जगहों पर हैं होम स्टे कलिम्पोंग दार्जिलिंग कर्सियांग जलपाईगुड़ी अलीपुरदुआर का डुआर्स बांकुड़ा पुरुलिया हुगली बंगाल में होम स्टे की आगे पढ़ें »

ऊपर