जीतने पर बंगाल में निवेश वापस लाएंगे : मीनाक्षी

भाजपा और तृणमूल दोनों रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने में विफल
सन्मार्ग संवाददाता
नंदीग्राम : बंगाल की सबसे हेवीवेट सीट नंदीग्राम पर सभी की निगाहें हैं। नंदीग्राम विधानसभा सीट पर तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी तथा उनके पूर्व सहयोगी और अब भाजपा से प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी के बीच होने वाले चुनावी घमासान में माकपा उम्मीदवार मीनाक्षी मुखर्जी अपनी पार्टी की खोई हुई जमीन दोबारा हासिल करने के लिए मशक्कत कर रही हैं। लगभग 14 साल पहले वामदल के गढ़ पर ममता ने कब्जा जमाया था। मीनाक्षी मुखर्जी इस बार रोजगार और उद्योगीकरण का वादा लेकर चुनाव में उतरी हैं और निर्वाचन क्षेत्र में पहचान की राजनीति को कड़ा मुकाबला देने के लिये सभी उपाय कर रही हैं। उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस इस भ्रम में है कि नंदीग्राम में उम्मीदवारों के ध्रुवीकरण का नतीजा उसके पक्ष में होगा, लेकिन सच यह है कि यहां के लोग रोजगार चाहते हैं। भाजपा और तृणमूल दोनों युवाओं के लिए रोजगार उत्पन्न करने में विफल रही हैं। इस विफलता का जवाब किसी भी तरह से ध्रुवीकरण नहीं हो सकता।’ मुखर्जी ने कहा कि एक अप्रैल को होने वाले चुनाव में उनके सामने बड़ी चुनौती है क्योंकि उन्हें दो दिग्गज नेताओं का सामना करना है। उन्होंने कहा ‘यह लड़ाई ध्रुवीकरण के खिलाफ है और इससे बंगाल में एक संदेश जाएगा। बंगाल के युवाओं को किसी भी और चीज से ज्यादा रोजगार चाहिए, राज्य को निवेश चाहिए।’ नंदीग्राम बाजार में स्थित पार्टी के दो मंजिला कार्यालय को 2007 में भूमि अधिग्रहण आंदोलन के दौरान आग लगा दी गई थी जिसके बाद उसे फिर से बनाया गया और 2019 में पुन: खोला गया। इसी कार्यालय में बैठकर मुखर्जी को लगता है कि तृणमूल और भाजपा दोनों ने अपने राजनीतिक हितों के लिए स्थानीय लोगों को भ्रमित किया है। उन्होंने कहा, ‘अब आप रहस्यों का खुलासा होते देख रहे हैं। नंदीग्राम आंदोलन स्थानीय लोगों को भ्रमित करने के लिए किया गया था। लोगों को इसका एहसास हो रहा है। वे हर जगह मेरा समर्थन कर रहे हैं। अगर हम जीतते हैं तो हम राज्य में निवेश वापस लाने के लिए काम करेंगे। इस बार लोग हमारे समर्थन में हैं। वे कभी उद्योग के खिलाफ नहीं थे। उन्हें एक झूठे आंदोलन से भ्रमित किया गया।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब अनुब्रत मंडल आये आयकर के निशाने पर, अगले सप्ताह बुलाये गये

करोड़ों की बेनामी संपत्ति का आरोप कोलकाता : आयकर विभाग ने ​अगले सप्ताह तृणमूल नेता अणुव्रत मंडल को बेनामी संपत्तियों से संबंधित मामलों में नोटिस भेजी आगे पढ़ें »

vote

जंगीपुर व शमशेरगंज में मतदान तिथि बदली, अब 16 मई को मतदान

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चुनाव आयोग ने जंगीपुर व शमशेरगंज में 13 मई को होने वाले मतदान की तिथि बदल दी है। अब यहां 16 मई आगे पढ़ें »

ऊपर