आयोग की नोटिस पर ममता का और कड़ा रुख

कहा : 10 नोटिस दे, जवाब एक ही रहेगा न हो वोटों का बंटवारा
उठाया सवाल : नरेंद्र मोदी के खिलाफ कितनी शिकायतें हुईं ?
सन्मार्ग संवाददाता
हुगली : बंगाल की सत्ता को लेकर चल रहे चुनाव में पलटवार का दौर लगातार जारी है। अल्पसंख्यक वोटरों की एकजुटता को लेकर दिये गये बयान पर चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी को नोटिस थमा दी जिस पर ममता का रुख और कड़ा हो गया। ममता ने कहा कि चुनाव आयोग मेरे खिलाफ भले 10 कारण नोटिस जारी कर दे, मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। उनके लिए यह मायने रखता होगा। मैं अभी भी सबसे से एकजुट होकर मतदान करने के लिए कह रही हूं, न कि किसी को बांटने की कोशिश कर रही हूं। मैं हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई के अलावा जनजातियों के भी साथ हूं।
मोदी के खिलाफ कितनी शिकायतें हुईं ?
ममता ने उल्टे सवाल उठाया कि अब तक नरेंद्र मोदी के खिलाफ कितनी शिकायत दर्ज हुईं ? वह तो रोजाना हिंदू-मुस्लिम करते रहते हैं। वे लोग जो नंदीग्राम के मुस्लिमों को पाकिस्तानी तक बोल दिये उनके खिलाफ शिकायत की गयी ? क्या वे लोग शर्मिंदा नहीं हैं ? मैंने एकजुट होने की बात कही जो गलत नहीं है।
केंद्रीय वाहिनी के जवानों के साथ हमदर्दी
ममता ने कहा कि केंद्रीय वाहिनी के जवानों के साथ मेरी हमदर्दी है। मुझे उनसे कोई शिकायत नहीं है। वे अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। उन्हें जो आदेश दिया जा रहा है वे उसे पूरा कर रहे हैं। मुझे मालूम है कि भाजपा के इशारे पर वे मतदान में गड़बड़ी फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। ममता ने दोबारा केंद्रीय बलों द्वारा डराने-धमकाने की आशंका जताई तथा लोगों से चौकन्ना रहने की बात कही। ममता ने आरोप लगाया कि केंद्रीय बल ‘अमित शाह द्वारा संचालित केंद्रीय गृह मंत्रालय’ के निर्देशों पर काम कर रहे हैं। वे लोगों से भाजपा के लिए वोट करने को कह रहे हैं। हम ऐसा नहीं होने देंगे। ममता ने कहा, ‘आपका काम निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनाव कराना है। कृपया शरारती तत्वों के साथ सख्ती से पेश आएं और एकजुटता बनाकर रखें।’
भाजपा को हराएं, गौरव बढ़ाएं
ममता ने भाजपा पर पूरे इलाके में धारा 144 लागू होने का झूठ फैलाने का आरोप लगाया तथा कहा कि ‘वे दहशत फैलाने के लिए झूठ बोलते हैं। वास्तव में किसी बूथ के 200 मीटर के दायरे में धारा 144 लगी होती है, लेकिन वे हमारे मतदाताओं को मतदान केंद्रों तक जाने से रोकने के लिए ऐसा कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘अगर आप गुप्तीपाड़ा की सबसे पुरानी दुर्गा पूजा को बचाना चाहते हैं, यदि आप दुर्गा पूजा जैसे त्योहारों को बचाना चाहते हैं तो भाजपा को हराएं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

गर्मियों में इस वजह से झड़ते हैं ज्यादातर लोगों के बाल

  गर्मियों में बालों की झड़ने की समस्या आम बात है लेकिन जब आपके बाल रोजाना बहुत ज्यादा मात्रा में झड़ने लगे, तो समझिये आपको हेयर आगे पढ़ें »

चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ धरने पर बैठीं ममता बनर्जी

कोलकाताः विवादित बयानों की वजह से चुनाव आयोग द्वारा ममता बनर्जी के चुनाव प्रचार पर लगाए गए प्रतिबंध के खिलाफ उन्होंने मंगलवार को धरना शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर