तृणमूल का इंजन हैं ममता, सबको साथ लेकर चलती हैं : पार्थ

कहा : कौन किस स्टेशन पर उतरेगा उससे पार्टी को फर्क नहीं पड़ता
तृणमूल की संपदा कार्यकर्ता है जो हमारे साथ है
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पार्टी से नाराज चल रहे नेताओं के पलायन पर तृणमूल के महासचिव पार्थ चटर्जी ने साफ कहा कि इससे पार्टी को कोई फर्क नहीं पड़ेगा। तृणमूल की सबसे बड़ी इंजन ममता बनर्जी हैं जो सभी को अपने साथ लेकर चलती है। इस बीच कौन किस स्टेशन पर उतरना चाहता है वह उसकी मर्जी है। पार्टी का इसमें कहीं कोई नुकसान नहीं है क्योंकि तृणमूल की असल संपदा कार्यकर्ता है जो आज भी हमारे साथ है। वह दूसरी पार्टियों में नहीं जा रहे है, कुछ नेता है जो किन्हीं कारणों से पार्टी छोड़ रहे है। राजीव के इस्तीफे पर पार्थ ने कहा कि कुछ समस्या होगी तभी उन्होंने ऐसा कदम उठाया है। इतना ही कहूंगा कि दिनों में राजीव को ही अपने किये पर पछतावा होगा।
राज्य की बात करे तो यहां जो विकासकार्य ममता ने किया है वह जनता जानती है। रही बात भाजपा की तो उनके नेता ही देखे कि बंगाल में उनकी पार्टी कहां है। तृणमूल तो बट का वह पेड़ है जिसके कुछ पत्ते गिर भी जाए तो फर्क नहीं पड़ेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

104 डिग्री मिला तापमान तो अंत में ही दे सकेंगे वोट

चुनाव आयोग की कोरोनाकाल में विशेष गाइडलाइन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः कोरोना काल में विधानसभा चुनाव में संक्रमण से बचाव के लिए चुनाव आयोग ने विशेष पहल की आगे पढ़ें »

चुनाव में काले धन का उपयोग न हो, इसके लिए आयकर के नोडल अधिकारी सक्रिय

23 जिलों में नोडल ऑफिसर नियुक्त सन्मार्ग संवाददाता चुनाव की घोषणा के बाद आयकर विभाग रख रहा है पैंनी नजर कोलकाता : बंगाल में चुनावी बिगुल बजने के आगे पढ़ें »

ऊपर