बंगाल का विकास नहीं चाहतीं ममता : योगी आदित्यनाथ

तृणमूल शासन के अंत का काउंटडाउन हुआ शुरू
35 दिन बाद बंगाल में होगी भाजपा की सरकार
सन्मार्ग संवाददाता
सागर/चंद्रकोणा/नंदीग्राम/कोलकाता : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के पहले चरण में होने वाले चुनाव प्रचार का गुरुवार को अंतिम दिन रहा। पहले चरण के अंतिम दिन सभी पार्टियों ने अपनी-अपनी पूरी ताकत झोंक दी। वहीं भाजपा के दिग्गज नेता समेत अभिनेता मिठुन चक्रवर्ती और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी चुनावी मैदान में हैं। इस दौरान यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने चुनावी रैली को संबोधित कर अपनी पार्टी के प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान से करने की अपील जनता से की। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य के विकास में ममता की कोई रुचि नहीं है और वह केवल गुण्डों और रंगदारों को प्रमोट करती हैं। योगी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल शासन के अंत का काउंटडाउन चालू हो चुका है और भाजपा 35 दिनों बाद बंगाल में सरकार बनाने वाली है जिसके बाद बंगाल में विकास का नया उदय होगा।
सभी पार्टियों ने मिलकर रोक दिया बंगाल का​ विकास
यूपी के सीएम ने कहा, ‘कभी पश्चिम बंगाल एक प्रगतिशील राज्य था, लेकिन कांग्रेस, वाममोर्चा और उसके बाद तृणमूल ने राज्य का औद्योगिक विकास रोक दिया और भ्रष्टाचार यहां फला – फूला।’
तृणमूल ने लूटा केंद्र का फंड
योगी आदित्यनाथ ने आरोप लगाया कि अम्फान के बाद केंद्र सरकार द्वारा भेजे गये फंड को तृणमूल ने लूट लिया। उन्होंने कहा, ‘अम्फान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1,000 करोड़ रुपये राज्य को भेजे थे, लेकिन लोगों तक ये रुपया नहीं पहुंचा और तृणमूल नेताओं ने ये रुपये लूट लिये।’
भगवा कपड़े से घबराने लगी हैं दीदी
अब तो दीदी भगवे कपड़े से भी घबराने लगी हैं, ममता दीदी को मालूम होना चाहिए कि भगवा भारतीय संस्कृति का प्रतीक है। ‘भगवा’ वस्त्र पहन कर ही स्वामी विवेकानंद जी ने वैश्विक मंच पर कहा था कि ‘गर्व से कहो हम हिंदू हैं।’ अष्टमी की पूजा में भी हम मां काली को भगवा अर्पित करते हैं।
केंद्रीय योजनाओं से वंचित रखा जा रहा बंगाल के लोगों को
यूपी के मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के लोगों को केंद्रीय योजनाओं जैसे ​कि पीएम आवास योजना, उज्ज्वला योजना, आयुष्मान भारत और किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं मिल रहा है। आखिर पश्चिम बंगाल के लोगों को क्यों केंद्रीय योजनाओं से वंचित रखा जा रहा है। यह दर्शाता है कि तृणमूल को पश्चिम बंगाल के विकास की कोई चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में केंद्र वाली पार्टी की सरकार बनने के बाद राज्य के लोगों को इन सुविधाओं और योजनाओं का लाभ मिलेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आईकोर मामले में ईडी ने 22 को शिक्षा मंत्री को बुलाया

करीबी को-ऑर्डिनेटर भी बुलाये गये कोलकाता : इंफोर्समेंट डायरेक्टोरेट की टीम ने आईकोर मामले में शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी को 22 अप्रैल को सीजीओ स्थित अपने आगे पढ़ें »

फिटकरी के यह चमत्कारी उपाय…

कोलकाता : अगर आप अपनी जिंदगी में किसी परेशानी से जूझ रहे हैं या आपको रात में डरावने सपने भी आते हैं तो इन सबसे आगे पढ़ें »

ऊपर