150 साल पुराने इंडियन कॉफी हाउस को लेकर छिड़ी सियासी जंग

बाहरी गुंडे परिभाषित करना चाहते हैं कॉफी हाउस को – ममता
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोलकाता स्थित इंडियन कॉफी हाउस जो कि 150 साल पुराने अपने गौरवमयी इतिहास पर फख्र कर रहा है, इन दिनों यहां पोस्टर्स को लेकर विवाद छिड़ गया है। सीएम ने शुक्रवार को रैलियों में कहा कि बाहरी गुंडे माथे पर तिलक लगाते हैं, पान मसाला चबाते हैं, मुंह के दोनों छोर से लाल रस टपकता है और धमकी दे रहे हैं। वे कॉफी हाउस की गरिमा को धूमिल करना चाहते हैं। मन्ना डे गीत के कॉफी हाउस-एर सेई अाड्डा ता अाज अार नेई।
क्या है विवाद
जानकारी के मुताबिक यह विवाद तब हुआ जब कॉफी हाउस की दीवारों पर नो वोट टू बीजेपी लिखे लाल रंग के पोस्टर चिपके दिखे। आरोप है कि इस पोस्टर को देखने के बाद 40 से 50 लोग भगवा रंग की टीशर्ट पहनकर वहां पहुंच गए। इन टीशर्ट्स पर मोदीपाड़ा अभियान की जानकारी दी गई थी। कॉफी हाउस में आए और लेफ्ट के आरोपों के मुताबिक उन्होंने कॉफी पी और कथित रूप से जय श्री राम और प्रधानमंत्री मोदी के समर्थन में नारा लगाया। साथ ही जिन पोस्टरों पर नो वोट फॉर बीजेपी लिखा था उनमें से नो मिटा दिया और कुछ पोस्टरों को फाड़ा भी। वहां पर लेफ्ट के कुछ लोगों ने इसका विरोध भी किया। कॉफी हाउस के एक कर्मचारी का कहना है कि सोमवार को 30 से 40 लोग यहां आये, खाना खाये और बिल दिया, लेकिन यहां से जाने के बाद सीढ़ी पर जो पोस्टर लगे थे उसको फाड़ दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कमिंस-रसेल के अर्धशतक बेकार, केकेआर की लगातार तीसरी हार

कोलकाता को 18 रन से हरा चेन्नई ने लगाई जीत की हैट्रिक मुंबई : आईपीएल 2021 के 15वें मैच चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) ने कोलकाता नाइट आगे पढ़ें »

कोरोना से मरीज त्रस्त, नर्सिंग होम्स बिल बनाने में व्यस्त

दक्षिण कोलकाता के नर्सिंग होम पैकेज पर ले रहे हैं कोरोना मरीजों को कोलकाता : कोरोना के कारण राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था ​अब धीरे-धीरे चरमरा रही आगे पढ़ें »

ऊपर