2021 में पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ेगी तृणमूल – ममता

शाह को चैलेंज, पहले अभिषेक से लड़कर दिखाएं फिर मुझ से टकराना
बंगाल डरता नहीं लड़ता है, आग से मत खेलिये
हिन्दुत्व नहीं सिखायें अमित शाह, इतना झूठा गृह मंत्री नहीं देखा
दक्षिण 24 परगना : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को दक्षिण 24 परगना के पैलान में चुनावी सभा से भाजपा पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आरोपों पर पलटवार किया तथा तृणमूल के तीसरी बार सरकार बनाने का दावा पेश की। सीएम ने कहा, अच्छे से सुन लीजिए अमित शाह 2021 में तृणमूल कांग्रेस अपने पुराने सारे रिकॉर्ड को तोड़ देगी और अधिकतम वोट हासिल कर चुनाव में सर्वाधिक सीट जीतेगी। बंगाल डरता नहीं लड़ता है। भाजपा के सामने कभी भी झुकने वाली नहीं हूं, इससे बेहतर है कि मौत को गले लगा लूं। अमित शाह द्वारा अभिषेक बनर्जी पर किये गये हमले पर ममता ने कहा, आग से खेलने की कोशिश मत कीजिए। हर कुछ की लक्ष्मण रेखा होती। मेरे अच्छेपन को मेरी कमजोरी समझने की गलती मत कीजिए। वे लोग हर वक्त दीदी-भतीजा रटे हुए हैं। गंगासागर में आकर भतीजा भतीजा कर रहे हैं, मैं अमित शाह को चैलेंज देती हूं कि पहले अभिषेक बनर्जी से लड़कर दिखाइये उसके बाद मुझ से टकराना। सीएम ने अमित शाह के पुत्र पर कहा कि अमित शाह का बेटा मेरा भतीजा है, मैं उनसे पूछती हूं कि जय शाह बीसीसीआई में कैसे घुसे? वो कैसे इतना अमीर बन गये। सीएम ने कहा कि जो भष्टाचार करते हैं वे ज्यादा चीखते चिल्लाते हैं। मैंने इतना झूठा गृह मंत्री नहीं देखा है। उन्नाव में 2 लड़कियों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत और एक लड़की की गंभीर हालत पर ममता ने सवाल उठाया कि गृह मंत्री ने उस पर एक शब्द क्यों नहीं कहे।
हिन्दू धर्म का पाठ नहीं पढ़ाये
सीएम ने कहा कि वे (बीजेपी नेता) कहते हैं कि बंगाल में सरस्वती पूजा नहीं होने देते। मैं उनसे पूछती हूं कि उन्हें मां सरस्वती का मंत्र मालूम है। उन्हें सरस्वती मंत्र बोलने की चुनौती भी दे डाली। उन्हें मां दुर्गा और मां काली के बारे में नहीं मालूम और बंगाल में राजनीति करना चाहते हैं। सीएम ने कई देवी-देवताओं के नाम भी गिनाए और कहा कि वह हिन्दू धर्म का पाठ उन्हें सिखाएंगी।
यूपी से भी भाजपा का होगा सफाया, नहीं होने दूंगी एनआरसी
ममता बनर्जी ने कहा कि हमलोगों ने दुआरे सरकार स्कीम के तहत 18 लाख से ज्यादा प्रमाणपत्र बांटे हैं। किसानों का अपमान करने के बाद वे पंजाब में खत्म हो गए। यूपी में भी उनका सफाया हो जाएगा। असम में कोई विकल्प नहीं है, इसलिए वे सत्ता में हैं। घुसपैठियों के सवाल पर ममता ने कहा कि एनसीआर, एनपीआर नहीं होने दूंगी। पहले वे लोग अपने माता पिता का प्रमाण पत्र दिखाएं चेक कराएं फिर दूसरे से मांगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

नमक का यह टोटका घर में चारों दिशाओं से करेगा धन वर्षा

कोलकाता : अगर घर में स्वादिष्ट भोजन बना हो और उसमें नमक नहीं डला हो तो वह कितना ही स्वादिष्ट पकवान हो उसे कोई नहीं आगे पढ़ें »

वैभव लक्ष्मी का करें पूजन मिलेगा धन लाभ

कोलकाता : हिंदू धर्म में शुक्रवार का दिन बेहद खास माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि, इस दिन उपवास करने से शुक्र ग्रह आगे पढ़ें »

ऊपर