नंदीग्राम की जनता से बोलीं ममता- अगर आपको गलत लगे तो कल नहीं करूंगी नामांकन

कोलकाताः बंगाल विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी लड़ाई नंदीग्राम में लड़ी जानी है और यहां से ममता बनर्जी ने हुंकार भर दी है। मंगलवार को जनसभा को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने नंदीग्राम आंदोलन की याद दिलाई। ममता बनर्जी ने कहा कि कोई-कोई बंटवारा करने की कोशिश करेगा। ऐसे लोगों की बात मत सुनिएगा। मैं अपना नाम भूल सकती हूं, लेकिन नंदीग्राम नहीं। उन्होंने कहा कि जब नंदीग्राम में आंदोलन हो रहा था तो मेरे घर काली पूजा हो रही थी। जिस तरह 14 मार्च को गोली चली थी, वो सबको याद है। मैं नंदीग्राम अकेली जा रही थी। मुझे रोकने की कोशिश की जा रही थी। राज्यपाल ने मुझे फोन करके कहा था कि रात को आपको नंदीग्राम नहीं जाना चाहिए। तमाम अत्याचार के बावजूद मैं पीछे नहीं हटी। मेरे ऊपर गोली भी चलाई गई थी, लेकिन बंगाल के लिए डटी रहीं। इस दौरान ऐसे बहुत से लोगों को हमारे साथ होना चाहिए था, लेकिन वो नहीं आए।
सिंगुर नहीं होने से नंदीग्राम का आंदोलन नहीं होता
ममता ने कहा कि सिंगुर नहीं होने से नंदीग्राम का आंदोलन नहीं होता। मैं गांव की बेटी हूं। मैंने पहले से ही सोच रखा था कि इस बार नंदीग्राम या सिंगुर से लड़ूंगी। आप लोगों ने मुझे स्वीकार किया है, इसलिए नंदीग्राम आई हूं। अगल आप लोगों को मेरा यहां चुनाव लड़ना गलत लगता है तो मैं पर्चा नहीं दाखिल करूंगा। आप लोगों की स्वीकृति के बाद ही नामांकन दाखिल करूंगा। इस दौरान ममता बनर्जी ने मंच पर चंडी पाठ किया।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

पुलिस कर्मियों में संक्रमण बढ़ते देख फिर चालू हो रहा क्वारंटाइन सेंटर

डुमुरजला पुलिस अकादमी और भवानीपुर पुलिस अस्पताल में चालू हुआ केन्द्र सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महानगर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। पिछले आगे पढ़ें »

शरीर में ऑक्‍सीजन का स्‍तर सामान्‍य बनाए रखने के लिए 6 जरूरी आहार

कोलकाताः कोविड पैनडेमिक के दौरान अपनी सेहत का विशेष तौर पर ख्‍याल रखने की जरूरत है। स्‍वस्‍थ शरीर और बेहतर इम्‍यूनिटी के साथ ही हमारा आगे पढ़ें »

ऊपर