ममता का केंद्र पर आरोप, यास से निपटने के लिए नहीं की गई ठोस सहायता

सोमवार को शाह के साथ हुई बैठक के बाद ममता का केंद्र को निशाना
बोलीं – बंगाल के साथ किया गया पक्षपात
कोलकाता : राज्य और केंद्र के बीच एक बार फिर तनातनी का माहौल बन गया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर केंद्र पर बंगाल से पक्षपात करने का आरोप लगाया है, कारण चक्रवात यास है। मालूम हो कि ओडिशा से होते हुए आज बंगाल में यह चक्रवात दस्तक देने जा रहा है, इसके पहले इस चक्रवात के मुकाबले को लेकर क्या तैयारियां हैं, उस पर अमित शाह ने प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। इस बैठक में ममता बनर्जी भी थीं। बैठक के बाद ममता ने बताया कि ओडिशा और आंध्र प्रदेश के लिए 600 करोड़ रुपए का आर्थिक पैकेज पहले से ही सहायता के तौर पर देने का आश्वासन दिया गया है, जबकि बंगाल को 400 करोड़ देने की बात कही गयी है। आखिर बंगाल को कम सहायता राशि क्यों दी जा रही है? जानकारी के अनुसार शाह की इस बैठक में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के उपस्थित होने की बात नहीं थी, इसमें मुख्य सचिव अलापन बंद्योपाध्याय शामिल होने वाले थे, लेकिन बाद में ममता बनर्जी खुद इस वर्चुअल बैठक में शामिल हुईं। ममता का आरोप है कि बंगाल जैसे इतने बड़े राज्य को सिर्फ 400 करोड़ आर्थिक पैकेज देने की बात क्यों की गई। यह बात सभी जानते हैं कि पिछली बार के महाचक्रवात में बंगाल को कितना नुकसान हुआ था, खुद प्रधानमंत्री ने इलाके का परिदर्शन किया था, जिसके बाद एक हजार करोड़ के अनुदान के तौर पर दिया गया था। उस वक्त केंद्रीय दल भी इलाके के दौरे के लिए आया था और आश्वासन दिया गया था कि जरूरत के अनुसार आर्थिक पैकेज की सहायता की जाएगी। वह सहायता राशि अब तक नहीं मिली, ममता ने ऐसा आरोप लगाया। इस बार यास को लेकर भी केंद्र की तरफ से जो पक्षपात दिखाया गया, उससे ममता बनर्जी काफी खफा हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कहीं आपको कोविड एंजाइटी तो नहीं

डर से पैनिक अटैक भी, लोगों को हिम्मत दे रहे साइकोलॉजिस्ट सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः कोरोना वायरस महामारी ने लोगों के मन पर भी वार करना शुरू कर आगे पढ़ें »

तृणमूल के कुछ दागियों के कारण नतीजे पर पड़ा असर : दिलीप घोष

उत्तर बंगाल को लेकर चल रही बातें केवल अफवाह पालिका और निगम चुनाव के लिए तैयारी शुरू एक-दो को छोड़ कर सभी विधायक हमारे साथ मधु सिंह कोलकाता : आगे पढ़ें »

ऊपर