ममता बनर्जी ने भरी हुंकार, ‘मैं शेरनी हूं, चूहे-बिल्लियों से नहीं डरती, जेल भेज दें, वहां से भी लड़ूंगी’

कोलकाताः बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हुंकार भरी कि वह शेरनी हैं। वह बिल्ली और चूहों से नहीं डरती हैं। यदि उन्हें जेल भेजना है, जेल भेज दें। वहां से भी लड़ाई करेंगी। मातृभाषा दिवस पर हुंकार देते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि 21 चैलेंज होगा। 21 में खेला होगा, कौन हारेगा, कौन जीतेगा। उन्हें जेल भी भेज दें, तो जेल से बंगबंधु की तरह आवाज उठाएंगी। मुझे हरा नहीं पाएंगे, हमें बचना होगा। हमे लड़ना होगा। बंगाल की संस्कृति और सभ्यता को कोई तोड़ नहीं पाएगा।

बाघ का बच्चा बिल्ली और चूहे को देख कर भय नहीं पाता

ममता बनर्जी ने कहा, ‘बंगाल के मेरुदंड को तोड़ने की कोशिश की जा रही है। धमकाने, चमकाने और जेल दिखाने से भय नहीं पाएंगे, जिसने बंदूक लड़ाई की है। उसे और भयभीत होने की जरूरत नहीं है। भय पाने का कोई कारण नहीं है, जब तक प्राण रहेगा। वह लड़ाई करती रहेंगी। कोई धमक व चमक से भय नहीं पाएंगे। मेरा मेरुदंड तोड़ना सहज नहीं है। मेरी जाति की विकृत करना सहज नहीं है। बाघ का बच्चा बिलार और चूहे को देखकर भय नहीं पाता है।’

बंगाल को किया जा रहा है वंचित

ममता बनर्जी ने कहा कि चार वर्ष पहले बंगाल का नाम बदलने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन अभी तक नहीं किया गया है। बंगाल को वंचित किया जाता है। बांग्ला नहीं रखने दिया गया, क्योंकि बांग्लादेश है। पाकिस्तान में पंजाब है, तो फिर भारत में पंजाब तो है। बंगाल राज्य के प्रति वंचना का भाव और  वैमनस्यमूलक आचरण किया जाता है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस, श्यामाप्रसाद मुखर्जी, रामकृष्ण, रवींद्रनाथ टैगोर को भी रियायत नहीं दिया गया। देशबंधु और राजाराम मोहन राय को भी रियायत नहीं दी गई थी।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

जिन लोगों की सुबह Alarm से ना खुले नींद, ये Viral Video खोल देगा उनकी आंखें

कोलकाता: रातभर सोने के बाद अगर आपकी नींद भी अलार्म की घंटी से नहीं खुलती तो ये खबर आपके लिए है! वैसे अलार्म की पहली आगे पढ़ें »

Delhi murder

थप्पड़ का बदला लेने के लिए की गयी विशाल की हत्या

अपने दोस्त के जरिए विक्रम गुप्ता ने दुलारा को दी थी सुपारी विशाल महतो हत्याकांड में मुख्य अभियुक्त सहित 6 गिरफ्तार हावड़ा : मालीपांचघड़ा थानांतर्गत घुसुड़ी के आगे पढ़ें »

ऊपर