भाजपा कार्यकर्ता मतदान केंद्रों पर जबरन कर रहे हैं कब्जा : ममता

महिला उम्मीदवार सुजाता को पीटा गया, अन्य उम्मीदवारों पर भी हमला
केंद्रीय सुरक्षा बलों का हो रहा है दुरुपयोग
अब तक 4 कार्यकर्ताओं की हुई हत्या
सन्मार्ग संवाददाता
कालचिनी : तीसरे चरण के मतदान में सीएम ममत बनर्जी भाजपा पर जमकर बरसीं और केंद्रीय वाहिनी पर गंभीर आरोप लगाया है। मुख्यमंत्री ने कालचिनी की सभा में आरोप लगाया कि भाजपा कार्यकर्ता मतदान केंद्रों पर जबरन कब्जा कर रहे हैं और तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवारों समेत पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमला कर रहे हैं। ऐसा करने में केंद्रीय वाहिनी उनकी मदद कर रही है। केंद्रीय सुरक्षाबलों का दुरुपयोग किया जा रहा है। वर्दी पहनकर मतदाताओं को डरा धमकाकर एक पार्टी विशेष के लिए वोट करने को कहा जा रहा है। उन्होंने चुनाव आयोग पर अनदेखी करने का आरोप लगाया। वह ‘डराने-धमकाने के इस प्रकार के हथकंडों’ से नहीं घबराएंगी। सीएम ने कहा कि अभी हाल में यहां नड्डा आये थे, उनकी सभा में एक भी लोग नहीं पहुंचे तो सीआरपीएफ को बोल किया किया गुंडा देकर बुथ कैपचर करो। ममता ने कहा कि इस तरह के गुंडामी करके चुनाव नहीं जीता जा सकता है।
सु​जाता मंडल का पीछा करके उसे पीटा गया
कालचिनी की जनसभा से आरोप लगाया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने आरामबाग से तृणमूल कांग्रेस प्रत्याशी सुजाता मंडल का पीछा किया और एक मतदान केंद्र के पास उनके सिर पर चोट पहुंचाई। उन्होंने कहा, ‘हमारी अनुसूचित जाति उम्मीदवार सुजाता जब मतदान केंद्र पहुंचीं, तो उन्होंने (भाजपा कार्यकर्ताओं ने) उन्हें गंभीर चोट पहुंचाई। उन्होंने खानाकुल में भी एक अन्य उम्मीदवार नजरूल पर हमला किया। कैनिंग ईस्ट में सुरक्षा बलों ने हमारे उम्मीदवार शौकत मुल्ला को एक मतदान केंद्र में प्रवेश नहीं करने दिया। राज्य भर में हमारे उम्मीदवारों, पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमले की इस प्रकार की कई घटनाएं हुई हैं।’ मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें सुबह से हमले और हिंसा की कम से कम 100 शिकायतें मिली हैं और निर्वाचन आयोग को इस बारे में जानकारी दी गई है, लेकिन इसका कोई लाभ नहीं हुआ। ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि भाजपा की रैलियों में ‘‘कम संख्या में लोगों के आने’’ के बाद दिल्ली में उनके नेतृत्व ने यह गहरा षडंत्र रचा। उन्होंने कहा, ‘सुरक्षा बलों से मतदान केंद्र पर कब्जा करने के प्रयासों को नहीं रोकने को कहा गया है।’
3 फेज में हमारे 4 कार्यकर्ताओं की हुई हत्या
ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि सुरक्षा बलों को शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए बोला गया मगर ऐसा नहीं हो रहा है। अभी तक तीन फेज में 7 – 8 लोगों की हत्या हो चुकी है और इनमें 4 लोग तृणमूल के कार्यकर्ता थे। पंचायत चुनाव में भी ऐसा नहीं हुआ है। मैं एभिडेंस के साथ बोल रही हूं, भाजपा के गुंडे अशांति फैसा रहे हैं। चुनाव आयोग कोई कदम नहीं उठा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आपको मालामाल कर सकते हैं कपूर के ये टोटके…

कोलकाता : सनातन धर्म में कपूर का विशेष महत्व है। पूजा-पाठ हो या फिर कोई भी मांगलिक कार्य बिना कपूर के पूरा नहीं होता है। आगे पढ़ें »

मोदी की सभा से लौट रहे कार्यकर्ताओं पर चली गोली, हुआ एसीड अटैक

सन्मार्ग संवाददाता नदिया : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जनसभा में भाग लेकर शनिवार रात घर लौट रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला हुआ, जिसमें जख्मी हुए तीन आगे पढ़ें »

ऊपर