आज नंदीग्राम की सभा से तृणमूल मापेगी अपना वजन

* तेखाली मैदान में ममता भरेंगी हुंकार
* शिशिर और दिव्येंदु काे नहीं बुलाया गया
* अधिकारी परिवार के बिना यह पहली सभा
* शुभेंदु और सोमेंदु छोड़ चुके हैं तृणमूल
सन्मार्ग संवाददाता
काेलकाता : पूर्व मिदनापुर में तृणमूल की जमीन को मजबूत करने में ममता बनर्जी के नेतृत्व में अधिकारी परिवार की भूमिका अहम मानी गयी है। खासकर नंदीग्राम आंदोलन में, मगर पिछले कई महीनों से तृणमूल और अधिकारी परिवार के बीच रिश्ते बदलते जा रहे हैं और इसी का असर है कि नंदीग्राम आंदोलन को लेकर भी तृणमूल और अधिकारी परिवार में खींचतान देखी जा रही है। यह जरूर है कि अधिकारी परिवार को दो सदस्य (शिशिर और दिव्येंदु ) अभी भी तृणमूल के सांसद हैं, मगर उनके रहने को भी नहीं रहने के नजरिये से देखा जा रहा है, क्योंकि शुभेंदु के भाजपा में जाने के बाद पार्टी नेतृत्व के किसी सभा में न तो शिशिर अधिकारी पहुंचें और ना ही दिवेंदु। ऐसे में नंदीग्राम में अपना वजन नापना तृणमूल ने शुरू कर दिया है और ऐसा कहा जा रहा है कि इसमें पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी खुद उतर गयी हैं। इसी क्रम में आज सोमवार को वे नंदीग्राम में तेखाली मैदान में सभा से हुंकार भरेंगी। सभा से वहां की जनता, पार्टी कार्यकर्ताओं को क्या संदेश देती हैं, इस पर सबकी निगाहें टिकी है। यहां बता दें कि ममता की नंदीग्राम की सभा जनवरी की शुरूआत में ही होने वाली थी, मगर वहां के विधायक अखिल गिरी अस्वस्थ होने के कारण इसे टाल दिया गया था।
ममता की सभा में नहीं जायेंगे सांसद पिता – पुत्र
शुभेंदु अधकारी के पार्टी छोड़ने के बाद ममता बनर्जी का पहली बार पूर्व मिदनापुर जिले में कदम रखने जा रही हैं और जिले के दो सांसद इस बैठक में उपस्थित नहीं होंगे। एक हैं कांथी सांसद शिशिर अधकारी और दूसरे हैं तमलुक के सांसद दिव्येंदु अधिकारी। शिशिर अधिकारी ने कहा कि उन्हें सभा के लिए किसी तरह का आमंत्रण नहीं दिया गया है। उल्लेखनीय है कि लगभग एक दशक तक पूर्व मिदनापुर जिले के तृणमूल अध्यक्ष होने के बाद 13 जनवरी को शिशिर को पद से हटा दिया गया था। एक सरकारी पद से भी उन्हें हटाया गया। माना जा रहा है कि उन्होंने खुद से नंदीग्राम में ममता की सभा में नहीं जाने का फैसला किया है। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार, पार्टी की ओर से नंदीग्राम में ममता की बैठक के बारे में किसी ने उनसे संपर्क नहीं किया।आज से सीएम जिला सफर पर
सप्ताह की शुरूआत से ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जिला सफर पर जा रही हैं। आज नंदीग्राम में सभा करने के बाद वे पुरुलिया जायेंगी तथा 19 को पुरुलिया में सभा करेंगी। सूत्रों के मुताबिक 20 को हुगली के लिए रवाना होंगी और उसी दिन सभा करेंगी। 21 जनवरी से तीन दिनों के लिए सीएम के उत्तर बंगाल जाने की संभावना जतायी जा रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वैभव लक्ष्मी का करें पूजन मिलेगा धन लाभ

कोलकाता : हिंदू धर्म में शुक्रवार का दिन बेहद खास माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि, इस दिन उपवास करने से शुक्र ग्रह आगे पढ़ें »

शिवसेना पश्चिम बंगाल में नहीं लड़ेगी चुनाव, तृणमूल को दिया समर्थन

बंगाल इकाई ने अलग किये रास्ते तृणमूल ने किया शिव सेना के फैसले का स्वागत कोलकाता : राष्ट्रीय जनता दल और समाजवादी पार्टी के बाद शिव सेना आगे पढ़ें »

ऊपर