मैनागुड़ी रेप : पीड़िता के परिवार व गवाहों को सुरक्षा देने का आदेश

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : मैनागुड़ी रेप कांड की पीड़िता के परिवार और गवाहों को सुरक्षा उपलब्ध करायी जाए। मामले की सुनवायी करने के बाद चीफ जस्टिस प्रकाश श्रीवास्तव और जस्टिस राजर्षि भारद्वाज के डिविजन बेंच ने बुधवार को यह आदेश दिया। सुरक्षा की जिम्मेदारी राज्य के डीजीपी मनोज मालवीय को सौंपी गई है। एडवोकेट पल्लवी चटर्जी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि मैनागुड़ी की पीड़िता की मौत हो चुकी है और पुलिस इसकी जांच कर रही है। एडवोकेट सुस्मिता साहादत्त ने इस मामले में पैरवी करते हुए उन दो गवाहों को एफिडेविट के साथ कोर्ट में पेश किया जिनके सीजर लिस्ट पर फर्जी दस्तखत किए गए हैं। उन्होंने उन्हें सुरक्षा देने की मांग की तो चीफ जस्टिस ने कहा कि उसे ही नहीं पीड़िता के परिवार के साथ-साथ सभी गवाहों को सुरक्षा दी जाने की जरूरत है। एडवोकेट जनरल एस एन मुखर्जी ने जलपाईगुड़ी के एसपी को यह जिम्मेदारी देने की अपील की पर चीफ जस्टिस ने राज्य के डीजीपी मनोज मालवीय को यह जिम्मेदारी सौंप दी। जबिक एडवोकेट साहादत्त सेंट्रल फोर्स को यह जिम्मेदारी देने की अपील कर रही थी। एडिशनल सालिसिटर जनरल धीरज त्रिवेदी ने इस पर अपनी सहमति जता दी

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में भजन एवं गीत की प्रस्तुति, देखिए वीडियो…

जयपुर : जयपुर में राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी एल संतोष की उपस्थिति में भजन एवं आगे पढ़ें »

ऊपर