पिता पुलिस में इंस्पेक्टर थे और बेटा बन गया जुर्म की दुनिया का बेताज बादशाह

जयपाल पर दर्ज हैं 50 से अधिक मामले, था 10 लाख का ईनाम
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : दो पुलिस अधिकारियों का कत्ल करने के मामले में नामजद गैंगस्टर जयपाल सिंह भुल्लर उर्फ जयपाल फिरोजपुरिया के पिता पुलिस में इंस्पेक्टर थे। समय ने ऐसी करवट बदली कि एक पुलिस इंस्पेक्टर का बेटा जुर्म के दलदल में फंस गया। उसके खिलाफ देश भर में करीब 50 आपराधिक मामले दर्ज हैं। बुधवार को न्यूटाउन के सापूरजी आवासन में एनकाउंटर में जयपाल सिंह भुल्लर और जसप्रीत सिंह की मौत हो गयी। जयपाल के साथियों बलजिंदर सिंह और दर्शन सिंह को पहले ही पंजाब पुलिस ने पकड़ लिया था।
लूट से लेकर मर्डर तक के मामले हैं जयपाल पर
गैंगस्टर जयपाल भुल्लर उर्फ मनजीत ने विक्की गौंडर और प्रेमा लाहौरिया की मौत के बाद गैंग की कमान संभाली थी। वह विक्की गौंडर का साथी रहा है और सुक्खा काहलवां हत्याकांड में शामिल था। जयपाल गैंग में फरीदकोट का तीर्थ सिंह ढिल्लवां, लुधियाना का बिल्ला ख्वाजके, उत्तर प्रदेश का शूटर असलम शामिल रहे हैं, जो कि पुलिस की मोस्ट वांटेड लिस्ट में हैं। जयपाल पर करीब 50 मामले दर्ज हैं। इनमें फिरोजपुर के सेखों करमीती समेत दोहरे हत्याकांड, तरनतारन और लुधियाना में दो मर्डर, लुधियाना में व्यवसायी के घर में 60 लाख की लूट, राजस्थान के किशनगढ़ में दो करोड़ के तांबे से लदा ट्रक लूटने, लुधियाना का चिराग किडनैपिंग केस और शोरूम में डकैती का मामला भी शामिल है।
गैंगस्टर रोकी की हत्या के बाद आया था चर्चा में
गैंगस्टर विक्की गौंडर व प्रेमा लहोरिया की मौत के बाद गैंग ने जयपाल भुल्लर को मुखिया मानते हुए उसके आदेश मानने शुरू कर दिए थे। जयपाल उस समय चर्चा में आया था जब उसने फाजिल्का के राजनीतिक नेता व गैंगस्टर रोकी की हिमाचल के परवाणू टिंबर ट्रेल के पास हत्या की थी। उसकी जिम्मेदारी लेते हुए उसने अपने फेसबुक पेज पर वारदात वाली फोटो भी शेयर की थी।
पंजाब में दो एएसआई की कर दी थी हत्या
जयपाल और जसप्रीत ने अपने साथियों बलजिंदर और दर्शन के साथ मिलकर पंजाब के लुधियान के जगरांव ग्रेन मार्केट में दो एएसआई भगवान सिंह और दलविंदरजीत सिंह से हथियार छीनकर उनकी हत्या कर दी थी। उस समय पुलिस कर्मी बाजार में कुछ गाड़ियों की चेकिंग कर रहे थे। उन्हें सूचना मिली थी कि गाड़ियों से अवैध शराब तस्करी के लिए ले जायी जा रही थी। इस मामले में फिरोजपुर का गैंगस्टर जयपाल सिंह भुल्लर और उसके साथियों मल्ला खुर्द (मोगा) का बलजिंदर सिंह उर्फ बब्बी, मोहाली के खरार का जसप्रीत सिंह उर्फ जस्सी और लुधियाना के साहौली के दर्शन सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी गयी थी।
मोस्ट वांटेड जयपाल 2016 से था फरार
पुलिस के अनुसार, जयपाल सिंह भुल्लर वर्ष 2016 से फरार है। उसने हिमाचल प्रदेश के परवानू में रोकी की हत्या कर फेसबुक पर शेयर भी किया था। 2017 में एक बैंक के कैश वैन से जयपाल और उसके साथियों ने 1.33 करोड़ रु. लूटे थे। अपने भाई अमृतपाल सिंह भुल्लर के साथ मिलकर उसने 30 किलो सोने की लूट दिन दहाड़े की थी। अमृतपाल व एक और सहयोगी को गिरफ्तार कर लिया गया था, लेकिन उस समय भी जयपाल पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। जयपाल ने अपने दुश्मन रोकी की हत्या के बाद फेसबुक पर लिखा था, ‘अभी तो खेल शुरु हुआ है, वेट एण्ड वॉच।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

ज्येष्ठ पूर्णिमा 2021 : पूर्णिमा के दिन क्या है पूजा की विधि, भगवान विष्णु के इन मंत्रों से होगा कल्याण

कोलकाता :  हिंदू धर्म में पूर्णिमा का खास महत्व होता है । इस दिन पूजा पाठ का विशेष महत्व होता है। इस दिन भगवान विष्णु आगे पढ़ें »

साल्टलेक सेक्टर-5 स्टेशन का भी निजीकरण

अब बंधन बैंक का लगा स्टेशन पर नाम कोलकाताः मेट्रो रेलवे की ओर से कई स्टेशनों को निजीकरण किए जाने की पहल पहले ही गई है। आगे पढ़ें »

ऊपर