लॉकेट ने की शिशिर अधिकारी से मुलाकात, पीएम की सभा में जाने का आमं​त्रण

शुक्ताे भाजा, मटन, चिंगड़ी, चिकेन के साथ शिशिर-लॉकेट की मुलाकात
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : गयी थीं ‘मोदी की दूत’ बनकर, लौटीं ‘शांतिकुंज की बेटी’ बनकर। शांतिकुंज पहुंचीं भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी का शिशिर अधिकारी ने काफी आतिथ्य किया और इसके बाद ‘आबार एसो मां (फिर आना बेटी)’ भी कहा। उन्होंने यह भी कहा कि अपना घर समझकर कभी भी आ जाना।
शनिवार को भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने तृणमूल सांसद व शुभेंदु अधिकारी के पिता शिशिर अधिकारी से मुलाकात की जिसे लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चा तेज हो गयी है। केवल शिशिर अधिकारी ही नहीं, बैठक में शुभेंदु अधिकारी के एक और भाई दिव्येंदु अधिकारी भी मौजूद थे। सूत्रों के अनुसार, कांथी में नरेंद्र मोदी की सभा में शा​मिल होने के लिए ही शांतिकुंज जाकर अधिकारी परिवार को लॉकेट चटर्जी ने आमंत्रण दिया। शिशिर अ​​धिकारी और लॉकेट चटर्जी ने इसे सौजन्यतामूलक मुलाकात करार दिया है।
राजनीतिक विशेषज्ञों के अनुसार, तृणमूल छोड़ भाजपा में शामिल होने के बाद से ही शांतिकुंज के प्रत्येक निवासी के साथ पार्टी नेतृत्व दूरियां बना रहा है। घर से कुछ दूरी पर कांथी में तृणमूल सुप्रीमो की जनसभा में सांसद शिशिर अधिकारी अनुपस्थित थे। इसके साथ ही भाजपा नेता शमिक भट्टाचार्य के बयान से चर्चा और तेज हो गयी है। उन्होंने कहा, ‘लोग चाहते हैं कि शिशिर अधिकारी कमल फूल में आये। भाजपा से अधिक लोग चाहते हैं कि शिशिर अधिकारी के जैसे वरिष्ठ व सम्माननीय राजनीतिक व्यक्तित्व भाजपा से जुड़ें।’ इधर, शांतिकुंज में लॉकेट ने दोपहर का भोजन भी किया व शिशिर अधिकारी समेत परिवार के अन्य लोगों से मुलाकात की। शांतिकुंज से बाहर निकलने पर संवाददाताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि शुभेंदु अधिकारी मिदनापुर के भूमिपुत्र हैं, भाजपा के नेता हैं इसलिये वह उनके घर गयीं थीं। उनके पिता शिशिर अधिकारी से बातचीत की परिवार के अन्य लोगों से मिलीं व साथ में खाना खाया। निकलते समय शुभेंदु की मां ने पान भी खिलाया, उसके अलावा कोई राजनीतिक बात नहीं हुई। लॉकेट चटर्जी ने कहा कि यदि शिशिर अधिकारी भाजपा में आते हैं तो उनका स्वागत है, लेकिन वह सशरीर प्रचार कार्य में निकलेंगे या नहीं, यह उनका व्यक्तिगत फैसला है। एक पिता तो हमेशा ही अपने बेटे के साथ रहता है। उन्होंने कहा कि शिशिर अधिकारी ने उन्हें फिर से घर बुलाया है तो समय मिलेगा तो वह जरुर आयेंगी। साथ ही लॉकेट ने यह भी दावा किया कि शिशिर अधिकारी ने पीएम की सभा में जाने के लिए हामी भरी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोलकाता को ‘सिटी ऑफ फ्यूचर’ बनायेगी भाजपा : मोदी

दीदी ओ दीदी अब की बार नहीं कहा, केवल की विकास की बात कोलकाता : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल में अपनी पहली वर्चुअली चुनावी सभा आगे पढ़ें »

मेरी लड़ाई किसी से नहीं, काम मेरी पहचान – फिरहाद हकीम

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पोर्ट विधानसभा चुनाव में मैं किसी को अपना प्रतिद्वंदी नहीं मानता हूँ। मेरी लड़ाई किसी से नहीं बल्कि मेरी खुद से है। आगे पढ़ें »

ऊपर