23 मई तक खड़गपुर आईआईटी में लॉकडाउन

खड़गपुर : आईआईटी-खड़गपुर ने बृहस्पतिवार कोविड-19 के बढ़ते मामलों की वजह से 23 मई तक कार्यालय बंद करने की घोषणा की। इसके सचिव तमाल नाथ ने बताया कि आवश्यक सेवाओं को छोड़ कर परिसर से कोई काम नहीं होगा। उन्होंने कहा, ‘‘ हमने परिसर में अनावश्यक कार्यालयों को शुक्रवार से 23 मई तक बंद करने का निर्णय किया है और कर्मी घर से काम करेंगे। यह ऐसा ही होगा जैसे छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं होती हैं।’’ नाथ ने कहा कि जरूरी सेवाओं से जुड़े कर्मी कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए परिसर से काम करना जारी रखेंगे। कुलसचिव ने छात्रावास में रहने वाले शोधार्थियों से बुधवार को कहा था कि पृथक-वास और उपचार के लिए सीमित स्थान होने की करण से वे अपने घर चले जाएं। परिसर में आवश्यक वस्तुओं की बिक्री करने वाली दुकानें राज्य सरकार के निर्देशों के तहत नियत समय पर ही खुलेंगी। नाथ आईआईटी परिसर में कोविड स्थिति पर कहा, ‘‘हमारा परिसर पश्चिम बंगाल या भारत के बाहर स्थित नहीं है। इसलिए, राज्य और देश में जो कुछ भी होता है, वह हमारे परिसर में परिलक्षित होता है।’’उन्होंने कहा ‘‘ हालांकि, आईआईटी-खड़गपुर ने हर संभव कदम उठाए हैं और स्थिति को नियंत्रण में रखा है।’’
इसलिए लिया गया यह निर्णय
खड़गपुर स्थित आईआईटी परिसर में रहने वाले 20 लोगों के 24 घंटों के अंदर ही कोरोना पीड़ित होने के कारण वहां पर 14 मई से 23 मई तक के लिये लॉकडाउन जारी कर दिया गया है। हालांकि आईआईटी प्रबंधन की ओर से कोई नाम नही देकर कोरोना की चेन तोड़ने की प्रक्रिया बतायी गयी है। खड़गपुर आईआईटी में 9 माह के अंदर ही दूसरी बार कोरोना कर्फ्यू की घोषणा की गयी है जो 14 मई से 23 मई तक के लिये कार्यकारी रहेगा। इस दौरान आईआईटी के शैक्षिक प्रतिष्ठान को पूरी तरह से सील कर दिया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पैरेंट्स ने नहीं दिलाया कुत्ता तो बेटे ने कर ली…

विशाखापट्टनम : एक नाबालिग लड़के ने सिर्फ इसलिए खुदकुशी कर ली कि उसे माता-पिता ने घर में पालने के लिए कुत्ता लाने से मना कर आगे पढ़ें »

5000 हेल्थ अस्टिटेंट को दी जाएगी मरीजों की देखभाल की ट्रेनिंग : केजरीवाल

नई दिल्ली : राज्यों ने जानलेवा कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। इसी क्रम में दिल्ली सरकार भी आगे पढ़ें »

ऊपर