लोकल बंद : 4 घंटे के इंतजार के बाद मिल रहा है एक यात्री

लोकल ट्रेनों के बंद होने व दूरगामी ट्रेनों में कम यात्री होने का खामियाजा भोग रहे हैं टैक्सीवाले
हावड़ा : राज्य की सभी लोकल ट्रेनों को बंद कर दिया गया है। पूर्व रेलवे हो या फिर दक्षिण पूर्व रेलवे, हावड़ा स्टेशन हो या फिर सियालदह स्टेशन पर लोकल ट्रेनों में आनेवाले लाखों लोगों की भीड़ अब नदारद है। स्टेशनों पर जहां सुबह से ही लोगों का जमावड़ा लगता था, वहां पर अब सब कुछ वीरान है। इसके साथ ही यह भी जानकारी है कि दूरगामी जैसे राजधानी, दूरंतो आदि ट्रेनों में यात्रियों की संख्या में भी काफी कमी आयी है। इसका असर स्टेशनों पर खड़े टैक्सीवालों पर सीधे तौर पर देखने को मिल रहा है। घंटों इंतजार करने के बाद भी कई बार टैक्सीवालों को खाली ही गैरेज करना पड़ रहा है।
घंटों इंतजार के बाद मिल रहे हैं यात्री
हावड़ा स्टेशन के बाहर अपनी टैक्सी लगानेवाले शत्रुघन महतो ने कहा कि वह कई सालों से टैक्सी स्टैंड पर टैक्सी लगाते हैं लेकिन पिछले बार वाली स्थिति इस बार भी उन्हें दिखाई दे रही है। उनका कहना है कि वह सुबह 9 बजे से यहां इंतजार कर रहे थे और करीब 1 बजे के बाद उन्हें एक यात्री मिला जो कि सिथि मोड़ जानेवाला था। इसके बाद वे यहां से वापस लौट आये हैं। एक और टैक्सी ड्राइवर पवन कुमार राय का कहना है कि वह सुबह यहीं पर टैक्सी लगाते हैं और उन्हें हर एक घंटे में यात्री मिल ही जाता है लेकिन आज उन्हें एक यात्री मिलने में 3 घंटे लग गये। आफताब आलम का यह भी कहना है कि उनके और भी साथी हैं जिन्हें तो अब तक कोई यात्री ही नहीं मिला। इसलिए वे खाली ही टैक्सी को गैरेज कर लेंगे। बलराम यादव ने कहा कि वे सुबह से भुखे प्यासे केवल पैसेंजर का इंतजार कर रहे हैं।
दिल्ली सरकार की तरह हमें भी मिले मुआवजा
सुनील कुमार सिंह ने कहा कि दिल्ली सरकार की ओर से हाल ही में यह घोषणा की गयी कि टैक्सी ड्राइवरों को 5-5 हजार रुपये करके अनुदान राशि दी जायेगी। इस​लिए यहां के भी टैक्सी ड्राइवरों ने राज्य सरकार से उन्हें अनुदान राशि प्रदान करने का आग्रह किया है। इसे लेकर गुरुचरण साव नामक टैक्सी ड्राइवर का कहना है कि लोकल ट्रेन बंद हो गयी है और दूरगामी यात्री न के बराबर हैं। ऐसे में उन्हें पैंसेजर लेने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। इससे उनकी स्थिति और भी खराब होती जा रही है। यहीं कहना सुनील राय, दिनेश राम, मेघु प्रसाद व मोहम्मद इमामुद्दीन समेत सैकड़ों ड्राइवरों की मांग है कि राज्य सरकार की ओर से उन्हें कुछ मदद की जाये।
प्रीपेड टैक्सी बूथ पर भी न के बराबर यात्री
इधर प्रीपेड टैक्सी बूथ चलानेवाले एक कर्मचारी का कहना है कि पहले दूरगामी ट्रेनों के यात्रियों की यहां पर टैक्सी लेने के लिए लंबी कतारें लगती थीं लेकिन धीरे-धीरे यह कतारें छोटी हो गयी और गत दो दिनों से लोग न के बराबर ही आ रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अगर आप भी है अपने बढ़ते वजन से परेशान तो आज से ही खाना शुरु करें ये चीज

कोलकाताः भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के लगभग हर देश में बढ़ते वजन को लेकर लोग परेशान है। ऐसे में वजन कम करने के लिए आगे पढ़ें »

रक्षा से जुड़ी वेबसाइट हैक करने वाले थे चीनी अपराधी, पूछताछ में खुलासा

कोलकाता /मालदह : सीमाई इलाके से अवैध तरीके से भारतीय सीमा प्रवेश करते पकड़े गये अपराधी चीनी नागरिक हानजुनवे (36) ने फिर सनसनीखेज खुलासा किया आगे पढ़ें »

ऊपर