अपने ही विधानसभा में ‘घरेर छेले’ पर शर्मिंदा हैं इलाकावासी

लोगों ने कहा : विश्वास के साथ वोट दिया था, मंत्री बनकर गरीबों का ही हक मार दिया
कुछ लोगों को यकीन ही नहीं, टीवी पर दिखने वाले पार्थ उनके विधायक ही हैं
पार्टी कार्यालय बंद, गलीभर में पसरा सन्नाटा
सोनू ओझा 
कोलकाता : लगातार 5 बार बेहला पश्चिम से विधायक बने, तीसरी पारी मंत्री की पूरी कर रहे हैं। पश्चिम बंगाल कै​बिनेट में हैवीवेट मंत्री पार्थ चटर्जी को चुनाव में हर बार ‘घरेर छेले’ के नाम पर ही लोगों ने वोट देकर विजयी भव: का आशीर्वाद दिया। पार्थ चटर्जी पर शिक्षक नियुक्ति घोटाले में लिप्त होने का आरोप है। अभी वे ईडी की कैद में हैं जहां मेडिकल के लिए उन्हें भुवनेश्वर एम्स ले जाया गया है। बहरहाल बात करते हैं पार्थ चटर्जी के विधानसभा केंद्र बेहला पश्चिम की जहां इलाके के कुछ लोग आज अपने ही चुने गये विधायक पर शर्मिंदा से दिखे। कई लोगों ने यह कहते हुए पल्ला झाड़ दिया कि उनकी जिंदगी है जो किया वह भुगतेंगे, तो कुछ ऐसे भी लोग मिले जिन्होंने मंत्री द्वारा इस घोटाले में लिप्त होने पर दुख जताया।
पार्थ की करनी पर किसी को विश्वास है, कोई यकीन नहीं कर रहा
मंत्री के रूप में पार्थ चटर्जी पर एसएससी घोटाला करने का आरोप है। उनकी गिरफ्तारी की खबर सुनते ही पूरे बेहला पश्चिम इलाके में लोग अचंभित हो गये। पार्थ के विधायक कार्यालय के सामने ही पान की गुमटी लगाने वाले दादा कहते हैं कि मंत्री साहब से ज्यादा सरोकार नहीं रहता था। वे आते थे तो देख लिया करता था। लोगों की पर्ची लेकर उनकी फरियाद सुनते थे। अब पता चल रहा है कि गरीबों का ही पैसा खाकर बैठे हैं, दुख हो रहा है। वहीं विधानसभा में कुछ दूर जाने पर एक बुर्जुग मिले जिन्होंने नाम मेंशन न करने की अपील करने के बाद कहा कि विश्वास के साथ तृणमूल को वोट दिया था, आज अफसाेस हो रहा है। स्नेहाशिष दास नाम के युवक ने कहा कि इसमें कोई हैरान होने वाली बात नहीं है। हम वोट देकर उन्हें नेता बनाते हैं और वह मौका समझ कर अपनी जेब भरने को ही प्राथमिकता देने लगते हैं। इन्हें मौका मिला, इन्होंने भी वही किया जो बाकी नेता करते हैं।
सुनी पड़ी है गली, पार्टी ऑफिस में लटका ताला
पार्थ चट​र्जी का कार्यालय बेहला मेंटन में है जहां हफ्ते में दो-तीन दिन वह बराबर जाते थे, वहां इलाके की लोगों की समस्या सुन उसका निदान करते थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि करीब एक हफ्ते से कार्यालय बंद पड़ा है। कुछ लोग सुबह-शाम आते हैं कि पार्थ दा न सही कोई सहायक तो मिल ही जाएगा उनकी पर्ची लेने के लिए, मगर ऐसा कुछ नहीं है। मेंटन की यह गली अब पूरी तरह सुनसान पड़ी है।
पिछले चुनाव में नायिका को भी पार्थ ने दी थी मात
पार्थ चट​र्जी को शिकस्त देने के लिए भाजपा ने भी 2021 के विधानसभा चुनाव में पूरा जोर लगाया था। उम्मीदवार में एक चमक दिखाने के लिए बांग्ला फिल्म की नायिका श्रावंती चटर्जी को पार्थ के विपरीत खड़ा ​किया गया था मगर लोगों ने नायिका को दरकिनार कर ‘घरेल छेले’ पर अपना विश्वास जताया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

तिरंगे की रोशनी से जगमगाया विक्टोरिया

कोलकाता : इंतजार सिर्फ एक दिन का है। स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर ‘आजादी का अमृत महोत्सव‘ के मद्देनजर कोलकाता की ऐतिहासिक इमारतों और स्मारकों आगे पढ़ें »

स्वतंत्रता दिवस के पहले हुगली में हथियारों का जखीरा जब्त, 8 गिरफ्तार

इन लोगों के लिए तरक्‍की के नए रास्‍ते खोलेगा यह सप्‍ताह, पढ़ें अपना टैरो राशिफल

कोलकाता सीबीआई के अधिकारी को मिला केन्द्रीय गृह मंत्री पदक

बंगालः नाव पलटने से दामोदर में बहे दो लोग

दलित छात्र ने घड़े से पिया पानी तो वहशी बन गया टीचर, ताबड़तोड़…

इन तीन लोगों को अपने घर डिनर पर बुलाना चाहते थे झुनझुनवाला, नहीं पूरा हो पाया सपना

अंधेरे के फायदा उठाकर कैनिंग में तृणमूल समर्थक को मारी गयी गोली, 4 गिरफ्तार

ब्रेकिंग: अलविदा राकेश झुनझुनवाला, ब्रीच कैंडी अस्पताल में आखिरी सांस ली

जानिए चेहरे पर क्यों आते हैं मुंहासे, इन्हें जड़ से खत्म कर देंगे यह घरेलू उपाय

ऊपर