समय के साथ-साथ बढ़ने लगी है नेताओं की दिलों की धड़कने

खड़गपुर: रविवार अर्थात 2 मई को विधानसभा चुनाव का परिणाम घोषित होने जा रहा है। अब केवल 1 दिन का समय बचा है दूसरे दिन यानि की रविवार की दोपहर तक चुनाव परिणाम के समाने आ जाने की संभावना है। एक तरह से कहें तो शनिवार से उल्टी गिनती शुरू हो जायेगी और आने वाले चंद घंटे राजनीतिक नेताओं के अलावा राजनीति में दिलचस्पी लेने वालों के लिये बड़ी मुश्किल से कटेंगे। इस बार खड़गपुर सदर से तृणमूल की ओर से प्रदीप सरकार, भाजपा की ओर से हिरणमय चट्टोपाध्याय, कांग्रेस की ओर से रीता शर्मा, एचयूएमपी से डी. मधुसूदन राव, एसयूसीआई से सुरंजन महापात्र ने चुनाव लड़ा है।
इस बार खड़गपुर सदर विधानसभा केंद्र में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा चुनावी मुकाबला हुआ है। तीनों ही दलों की ओर से अपने-अपने दलीय प्रार्थियों की जीत के लिये पुरजोर दम लगाकार प्रचार-प्रसार किया गया। प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री और अभिनेता से लेकर अभिनेत्रियों सभी को प्रचार के लिये मैदान में उतारा गया था। कोई भी दल पीछे नहीं रहना चाहा। चुनाव आयोग भी शांतिपूर्वक मतदान कराने के लिये तटस्थ था और वहीं हुआ भी। चुनाव आयोग और प्रशासन की मुस्तैदी के कारण खड़गपुर सदर में चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न हो गया लोगों ने भी बड़ी ही चाव और शांति से मतदान किया और उनका फैसला ईवीएम रूपी भानूमति के पिटारे में बंद हो गया। वह पिटारा 2 मई को सुबह खोला जायेगा। प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार 2 मई की संभवतः दोपहर तक चुनाव परिणाम सामने आ जायेंगे। चुनाव में सभी दल के नेता अपने-अपने प्रार्थियों की जीत को लेकर आशन्वित हैं। किसी भी दल का नेता कर्मी अथवा समर्थक मानने को तैयार नहीं है कि उनका प्रार्थी हारेगा लेकिन यह तो तय है कि खड़गपुर सदर विधानसभा केंद्र से चुनाव लड़ने वाले 5 प्रत्याशियों में से 4 को हार का मुंह देखना पड़ेगा और केवल एक प्रत्याशी ही जीत कर ‘हार’ को गले लगायेगा, लेकिन वह कौन होगा फिलहाल इस बात की चर्चा करना ही बेमानी होगी क्यों कि चुनावी समर में जनता ने किसे सर आंखों पर बिठाया है और किसे टरका दिया है इस बात का फैसला तो हो चुका है बाकी है तो उस फैसले को जनता के सामने आने का। इसी कारण सभी दल के नेताओं की धड़कने अब धीरे-धीरे बढ़ने लगी हैं जो 2 मई को मतगणना के समाप्त होने के बाद ही सामान्य होंगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अस्पतालों में नहीं मिल रहे हैं डोम

युद्धस्तर पर हो रही हैं नियुक्तियां सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के सेकेंड वेव ने स्वास्थ्य परिसेवा की स्थिति खराब सी कर दी है। आलम आगे पढ़ें »

दो श्मशान और एक कब्रिस्तान बना रही है कोलकाता नगर निगम

कोविड शवों की बढ़ती संख्या बढ़ा रही है प्रशासन की परेशानी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर