लाखों यात्री दौड़ेंगे सियालदह तक मेट्रो से, तेजी से चल रहा मेट्रो का काम

रोजाना ही चल रहा सियालदह तक ट्रायल रन
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः ईस्ट वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर के तहत सियालदह में मेट्रो ट्रेन का ट्रायल रन 31 जुलाई को शुरू हुआ था। सूत्रों की मानें तो इसके बाद से इन दिनों रोजाना ही ट्रायल रन चल रहा है। इसके साथ ही साथ सियालदह मेट्रो परिसर में काम भी तेज गति से चलाया जा रहा है। मेट्रो की इस परियोजना के साथ ही सियालदह मेट्रो स्टेशन व सियालदह स्टेशन परिसर भी बिल्कुल बदला नजर आएगा। सियालदह मेट्रो के आसपास का काम लगभग खत्म हो चुका है। मेट्रो रेलवे सूत्रों के मुताबिक स्टेशन के उपरी गेट से सभी पार्किंग की व्यवस्था करने का काम लगभग पूरा हो चुका है।
जल्द ही सड़कों को खोल देने की उम्मीद
मेट्रो सूत्रों की मानें तो जिस गति से परियोजना पर काम चल रहा है, मेट्रो परिसर के ऊपरी क्षेत्र की सड़कों को जल्द ही खुली सड़कों से बदल दिया जाएगा। जिस तरह जमीन के नीचे काम तेजी से आगे बढ़ रहा है, उसी तरह जमीन के ऊपर भी काम तेजी से आगे बढ़ रहा है। नतीजतन, सबसे व्यस्ततम स्टेशनों में शुमार सियालदह स्टेशन परिसर में नजारा बिल्कुल बदल रहा है। पूर्व रेलवे के सबसे बड़े स्टेशनों में से एक सियालदह स्टेशन से मेट्रो रेल की परिसेवा भी जुड़ जाएगी। यहां ट्रेन से उतरकर लोग सीधे मेट्रो की सवारी आगामी दिनों में कर सकेंगे। सूत्रों ने बताया कि सियालदह मेट्रो स्टेशन अगले छह महीने में बनकर तैयार हो जाएगा। इससे पूरा स्टेशन परिसर बदल जाएगा। सियालदह ईस्ट-वेस्ट मेट्रो प्रोजेक्ट का बेहद अहम स्टेशन बनने जा रहा है। कोलकाता मेट्रो रेलवे कार्पोरेशन सूत्रों की मानें तो उम्मीद है कि इस स्टेशन से लाखों यात्री मेट्रो का इस्तेमाल करेंगे। चूंकि मेट्रो स्टेशन और रेलवे स्टेशन बहुत करीब हैं, इसलिए यात्रियों की सुविधा को अतिरिक्त महत्व दिया जा रहा है।
इस्प्लानेड बनेगा जंक्शन स्टेशन
सियालदह में मेट्रो लाइन जमीन से 16.5 मीटर नीचे‌ स्थित है। सियालदह मेट्रो स्टेशन के एक तरफ फूलबागन मेट्रो स्टेशन, दूसरी तरफ एस्प्लानेड मेट्रो स्टेशन है। एस्प्लानेड मेट्रो स्टेशन एक जंक्शन स्टेशन तैयार होने जा रहा है, इसलिए यह माना जाता है कि सियालदह मेट्रो स्टेशन पर भी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए उचित उपाय करने होंगे।
यात्रियों की सुविधा के लिए स्टेशन में 9 सीढ़ियां हैं। सियालदह से दक्षिण में विस्तृत स्थान से आसानी से यहां पहुंचा जा सकता है। सुविधा के लिए इसे चौड़ा किया गया है। इसके अलावा, मेट्रो स्टेशन में प्रवेश करने और बाहर निकलने के लिए कई सिरों पर सीढ़ियां हैं। स्टेशन में कुल 18 एस्कलेटर हैं। कुल 27 टिकट काउंटर हैं। इसके अलावा यात्रियों की सुविधा के लिए 5 लिफ्ट हैं। कुल 3 प्लेटफॉर्म हैं। फर्श की छँटाई का काम शुरू हो गया है।
अक्टूबर में आ सकते हैं सीआरएस
सूत्रों के मुताबिक, रेलवे सुरक्षा आयुक्त(सीआरएस) इस साल अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में सियालदह मेट्रो स्टेशन का दौरा कर सकते हैं। पूजा से पहले यात्री यातायात के लिए सियालदह स्टेशन तैयार हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि कुल मेट्रो परियोजना साल्टलेक सेक्टर-5 से हावड़ा मैदान तक है। इसमें साल्टलेक सेक्टर-5 से लेकर फूलबागान तक फिलहाल मेट्रो चल रही है।
कुछ यात्री सुविधाओं पर
सीढ़ियां-9
एस्कलेटर-18
टिकट काउंटर-27
लिफ्ट-5
प्लेटफॉर्म-3

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा से ठीक पहले मॉल्स के बिजनेस ने पकड़ी रफ्तार

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गा पूजा में अब कुछ दिनों का समय ही शेष रह गया है। ऐसे में दुर्गापूजा से ठीक पहले ही मॉल्स के आगे पढ़ें »

ऊपर