प्रशिक्षण का अभाव या फिर कुछ और, क‌िसके निर्देश पर लिफ्ट में सवार हुए थे दमकल कर्मी?

कोलकाता : आग लगने पर क्या न करें इसे लेकर दमकल कर्मी आम लोगों को जागरूक करते रहते हैं। लिफ्ट में सवार नहीं होने का निर्देश भी देते हैं। हालांकि न्यू कोयलाघाट रेलवे बिल्ड‌िंग में लगी आग की घटना के बाद आग बुझाने के लिए दमकल कर्मी क्यों लिफ्ट में सवार हुए ? क्या लिफ्ट में सवार होकर जाने के लिए उन्हें निर्देश दिया गया था? या फिर मृत 4 दमकल कर्मियों में उपयुक्त प्रशिक्षण का अभाव था। दमकल कर्मियों की मौत के बाद यह सभी सवाल उठ खड़े हुए हैं। इन सभी सवालों को लेकर खुद दमकल विभाग के अंदर ही विवाद हो गया है। इन सवालों को लेकर खुद दमकल विभाग भी असहज महसूस कर रहा है। दमकल विभाग के अधिकारी ने बताया कि उक्त लिफ्ट को खासतौर पर दमकल विभाग के लिए चलाया गया था। इस तरह की बहुमंजिली इमारत में लिफ्ट के बगैर फायर फाइटिंग करना बहुत मुश्क‌िल होता है। बहुत से यंत्र व सामान ऊपर ले जाना था। दमकल कर्मियों को पुलिस और रेल कर्मी गाइड कर रहे थे। रेल के सिस्टम ने भी काम नहीं किया।
क्या लिफ्ट की तकनीकी खराबी के कारण हुई लोगों की मौत
सूत्रों के अनुसार सोमवार की शाम जब न्यू कोयलाघाट ब‌िल्ड‌िंग में आग लगी तो दमकल कर्मी लिफ्ट से इमारत की ऊपरी मंजिल पर गए। सूत्रों के अनुसार पुलिस व दमकल कर्मी लिफ्ट से 10वें तल्ले तक जाने वाले थे। उसके बाद सीढ़ियों से होकर वे 12वें तल्ले पर जाने वाले थे। हालांकि संभवत: तकनीकी खराबी के कारण लिफ्ट 10वें तल्ले की जगह 12 वें तल्ले पर चली गयी और इस दौरान जैसे ही लिफ्ट का गेट वहां खुला तो आग की लपटों के कारण लिफ्ट में मौजूद सभी 6 लोग बुरी तरह झुलस गए। इनमें 4 दमकल कर्मी, एक पुलिस कर्मी और एक संभवत: आरपीएफ कर्मी शामिल थे। हालांकि के 10वें तल्ले की जगह 12वें तल्ले पर पहुंचने के पीछे की वजह तकनीकी खराबी बतायी जा रही है। वहीं दूसरी लिफ्ट से रेलवे अधिकारी पार्थ सारथी मंडल और उनके सुरक्षा कर्मी आरपीएफ कांस्टेबल संजय साहनी का शव बरामद किया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

साइबर फ्रॉड से बचें : अस्पताल में बेड और ऑक्सिजन दिलवाने के नाम पर ऐसे हो रही ठगी

नई दिल्ली : देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों से लोग घबराए हुए हैं। ऐसे समय में भी साइबर अपराधी लोगों को इलाज के आगे पढ़ें »

क्या होता है ये पल्स ऑक्‍सीमीटर, कोरोना में क्यों है जरूरी?

कोलकाताः कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों ने एक बार फिर से चिंता बढ़ा दी है। केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से कड़ी पाबंदियां लगाई आगे पढ़ें »

ऊपर