त्रिपुरा पुलिस की पूछताछ में कुणाल घोष पड़े बीमार

कोलकाता : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में जीत के बाद टीएमसी ने अब त्रिपुरा पर अपना फोकस कर दिया है। कल टीएमसी के महासचिव अभिषेक बनर्जी त्रिपुरा जाने वाले हैं। उसके पहले त्रिपुरा की बीजेपी की बिप्लब देव सरकार ने 4 नवंबर तक रैली निकालने पर रोक लगा दी है। त्रिपुरा सरकार ने धारा 144 लगा दी है। बता दें कि अभिषेक बनर्जी ने 22 सितंबर को रैली निकालने का ऐलान किया है, लेकिन अब उस पर रोक लगा दी गई है। इस बीच, अगरतला पुलिस की पूछताछ में टीएमसी नेता कुणाल घोष बीमार पड़ गए हैं। बता दें कि कल अभिषेक बनर्जी ने अगरतला में जुलूस निकालने का ऐलान किया है। वह कल ही अगरतला में संवाददाता सम्मेलन करेंगे। चूंकि अब त्रिपुरा सरकार ने जुलूस पर रोक लगा दी है। इससे वहां टीएमसी जुलूस निकालती है या नहीं। इस पर अभी खुलासा नहीं हुआ है, लेकिन यदि टीएमसी जुलूस निकालती है, तो सरकार के साथ टकराव के आसार है।
टीएमसी नेता कुणाल घोष हुए अस्वस्थ
इस बीच, कुणाल घोष से अगरतला में पुलिस ने पूछताछ की। पूछताछ के दौरान कुणाल घोष अस्वस्थ हो गए हैं। दूसरी ओर, टीएमसी के सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा कि सारा मामला योजना के तहत किया गया है। अभिषेक के कार्यक्रम के लिए पहले से अनुमति मांगी जा रही थी, लेकिन सरकार ने जानबूझ कर रोक लगा दी है। टीएमसी के हाईकोर्ट में जाने पर वहां की सरकार ने धारा 144 जारी कर दी है। यह सब अभिषेक को रोकने के लिए किया जा रहा है। सुखेंदु शेखर रॉय ने नए बीजेपी अध्यक्ष सुकांत मजूमदार को लेकर कटाक्ष करते हुए कहा कि ‘खेला होबे’ हमारा नारा है, अब कोई चाहे तो खेल सकता है। खेल होगा, हर जगह खेल होगा। बीजेपी सरकार रॉयल बंगाल से डर गई है और वहां की सरकार टीएमसी को रैली करने की अनुमति नहीं दे रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

भारत के खिलाफ मुकाबले से एक दिन पहले पाक ने किया टीम का ऐलान

नई दिल्लीः 24 अक्टूबर को भारत और पाकिस्तान के बीच खेले जाने वाले हाईवोल्टेज मुकाबले के लिए पाकिस्तान क्रिकेट टीम ने अपने 12 खिलाड़ियों के आगे पढ़ें »

ऊपर