यास की रडार पर कोलकाता के पुराने मकान, रेड अलर्ट पर बड़ाबाजार

  • पुराने और खतरनाक मकानों को लेकर निगम चिंतित
  • करीब 500 मकानों पर खतरा अधिक
  • 5000 परिवारों को सुरक्षित लाने की तैयारी

कोलकाता : दशक के सबसे खतरनाक सुपर साइक्लोन अम्फान में जिस तरह कोलकाता की तस्वीर बदली थी, उसका आंखों देखा हाल देखने के बाद दस्तक दे रहे खतरनाक यास को लेकर कोलकाता नगर निगम चिंतित है। खासकर कोलकाता के पुराने और खतरनाक मकानों की सुरक्षा को लेकर निगम के पास बड़ा चैलेंज है, जिसमें बड़ाबाजार के खतरनाक मकान पर इनका फोकस ज्यादा है। हालांकि इस महाप्रलय से निपटने के लिए कोलकाता नगर निगम की तैयारी पूरी है।
बड़ाबाजार पर खतरा अधिक
कोलकाता नगर निगम के बिल्डिंग विभाग के डीजी अनिंद्य करफोर्मा ने बताया कि कोलकाता में दशकों पुराने कई मकान हैं, जिसमें बड़ाबाजार में अधिक ऐसे मकान हैं जो तेज तूफान की हवाओं से कभी भी गिर सकते हैं। इसके अलावा बोरो 2,4,6,7,8 और 9 में भी ऐसे कई मकानों की संख्या है जो यास के रडार पर आ सकती है। इसलिए हमारी तरफ से तैयारी की जा रही है कि इन मकानों को जल्द से जल्द खाली कराया जा सके।
500 मकानों पर खतरा अधिक
निगम अधिकारी ने बताया कि कोलकाता में करीब 500 मकान हैं जो अधिक खतरनाक हैं। यास को लेकर जो जानकारी मिल रही है उसका असर इन 500 मकानों पर पड़ने की संभावना अधिक है, इसलिए हमारा फोकस इन मकानों को न सिर्फ खाली कराना है, बल्कि वहां रह रहे परिवारों को भी सुरक्षित स्थान तक पहुंचाना है, क्योंकि यह मकान ऐसे हैं जहां तेज तूफान इनकी नींव कब हिला दें कहा नहीं जा सकता। उन्होंने बताया कि कोलकाता में वैसे तो खतरनाक मकानों की संख्या 2000 से अधिक है लेकिन समस्या 500 मकानों को लेकर है।
5000 लोगों को शिफ्ट करने की योजना
अधिकारी ने बताया कि ऐसे खतरनाक मकानों में करीब 5000 लोग रहते हैं, जिन्हें हम सुरक्षित स्थानों पर भेजने का काम कर रहे हैं। इन्हें निगम के ही स्कूल, कम्युनिटी हॉल या शेल्टर हाउस में रखने की व्यवस्था की गई है। लोगों को भी जागरूक रहने को बोला गया है। साथ ही यह समझाया जा रहा है कि इस महान चक्रवात से बचने के लिए उन्हें अपने आशियाने से निकलना पड़ेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

स्वरूपनगर में तृणमूल नेता की हत्या की कोशिश

घर के सामने ही 4 अभियुक्तों ने किया हमला गंभीर अवस्था में पीजी में है भर्ती बशीरहाट : बशीरहाट अंचल के स्वरूपनगर थाना अंतर्गत गोविंदपुर ग्राम पंचायत आगे पढ़ें »

बारला के बाद अब एक और भाजपा सांसद ने की अलग राज्य की मांग

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अलीपुरदुआर के भाजपा सांसद जाॅन बारला ने जहां उत्तर बंगाल को अलग राज्य या केंद्र शासित प्रदेश घोषित किये जाने की मांग आगे पढ़ें »

ऊपर