दमघोंटू नहीं, ग्रीन पटाखों से सजेगा आतिशबाजी का बाजार

पटाखों की आवाज होगी 90 डेसीबल से कम
सोनू ओझा
काेलकाता : रोशनी के त्योहार दिवाली के मौके पर पटाखे न जले तो कुछ अधूरा सा लगता है। सही है कि पटाखों से निकलने वाला धुआं फिजा की हवाओं में जहर बनकर ऐसा घुलता है जो दमघोंटू होने के साथ सेहत के लिए हानिकारक भी है। यही कारण है कि पिछले कुछ सालों से ईको फ्रेंडली दिवाली मनाने पर जोर दिया जाने लगा है। इस बार कोलकाता में भी दिवाली मनेगी, पटाखे भी जलेंगे मगर वह हवाओं को प्रदूषित करने वाले नहीं बल्कि ईको फ्रेंडली हाेंगे। इसी तर्ज पर पटाखों का बाजार भी सजेगा और ग्रीन पटाखों की खरीद-बिक्री भी होगी। इन पटाखों में खास होंगे शिवाकाशी के पटाखे जिनसे रोशन होगी इस बार कोलकाता की ग्रीन दिवाली।
शिवाकाशी के खास ग्रीन पटाखों को मंगाया गया
सारा बांग्ला आतिशबाजी उन्नयन समिति के चेयरमैन बाबला रॉय ने सन्मार्ग को बताया कि इस बार हमारी तरफ से ग्रीन पटाखों का बाजार लगाया जाएगा ताकि प्रदूषण न हो सके। उन्होंने कहा कि पटाखा व्यवसायियों का यह सालभर का व्यवसाय होता है, इसे देखते हुए ही हम पटाखों की बिक्री करेंगे। पटाखे तैयार करने में भी इस बात का खास ध्यान रखा गया है कि ग्रीन पटाखे ही बने। पटाखों के बिना दिवाली अधूरी होती है इसलिए शिवाकाशी के खास पटाखे भी हम मंगवा रहे हैं। इसके अलावा हरियाणा से भी पटाखों के कुछ आइटम मंगाए गये हैं। कुल मिलाकर इस बार के पटाखा बाजार में 60 फीसदी पटाखे बंगाल के निर्मित होंगे तो 40 प्रतिशत दूसरे राज्यों के जिसमें शिवाकाशी से मंगाए गए पटाखों का हिस्सा 30 फीसदी तक है।
सुबह 8 से रात 10 बजे तक सजेगा आतिशबाजी का बाजार
बाबला रॉय ने बताया कि सरकार के साथ हुई बैठक के बाद तय किया गया है कि इस बार मैदान की जगह सिंथी में पटाखा बाजार लगाया जाए। इसकी रूपरेखा जल्द तैयार की जाएगी। 1 नवंबर से 5 नवंबर तक पटाखा का बाजार लगेगा जहां सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक पटाखों की बिक्री की जाएगी।
सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन होगी प्राथमिकता
* पटाखों की आवाज 90 डेसीबल से अंदर होगी जो दूसरे राज्यों में 125 डेसीबल तक है।
* पटाखे ग्रीन यानी ईको फ्रेंडली होंगे।
* पटाखों से धुआं नहीं निकलना चाहिए।
* पटाखों में खतरनाक केमिकल का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।
इस बार पटाखों के इन आइटम पर होगी नजर
* फ्लावर पोट
* चरकी
* टॉर्च
* फुलझड़ी

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

खाद की कमी से बंगाल में आलू की बुआई प्रभावित

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि वैश्विक उर्वरक की कमी से इस मौसम में पश्चिम बंगाल में आलू की बुआई प्रभावित हो सकती आगे पढ़ें »

बारिश भी नहीं रोक पायी प्रचार के जोश को, रविवार को उम्मीदवार पहुंचे घर – घर

सर्दियों में गर्मागर्म सेक्स करने के तरीके

चक्रवात को लेकर कोलकाता निगम अलर्ट पर

बढ़ने लगे ओमिक्रोन के मामले, आज राजस्थान में 9 और महाराष्ट्र में 7 नए मामले 

जवाद को लेकर लालबाजार में खुला युनीफाइड कमांड सेंटर

बस एक क्लिक में पढ़ें अब तक की बड़ी खबरें

वैक्‍सीन की दोनों डोज फिर भी ओमीक्रोन, पढ़ें दिल्‍ली के पहले मरीज में मिले कैसे लक्षण?

बच्चे का नाम रखा ‘बॉर्डर’: पाकिस्तानी हिंदू महिला ने बच्चे को दिया जन्म, अटारी बॉर्डर पर कर रही

विक-कैट की शादी के इतने दिन पहले होटल हाई सिक्युरिटी के हवाले, मोबाइल भी किया बैन

ऊपर