कोलकाता का कोविड पॉजिटिविटी रेट 7.31%, जिलों में राहत

कोविड के मामले कभी कम, कभी अधिक होने से विशेष निगरानी जारी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के आंकड़े एक दिन में कभी अधिक तो कभी कम आ रहे हैं। यह स्थिति रोजाना ही बदल रही है। इस बीच देखा जा रहा है कि कुछ जिलों में कोरोना वायरस के मामले अब भी पूरी तरह से नियंत्रण में नहीं हैं। यही वजह है कि यहां विशेष निगरानी स्वास्थ्य विभाग की ओर से बरती जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़े बताते हैं कि कोलकाता में वर्तमान समय में कोविड पॉजिटिविटी रेट 7.31% है। यह आंकड़ा 28 अक्टूबर से तीन नवंबर के बीच का है। ऐसे में अगले सप्ताह की स्थिति को देखना होगा कि कोविड दर क्या है। माना जा रहा है कि पहले की अपेक्षा इसमें कुछ सुधार हुआ है। दूसरी तरफ कोलकाता के रोजाना के कोविड संक्रमण के आंकड़े हेल्थ एक्सपर्ट के लिए एक चिंता का विषय बना हुआ है। हालांकि जिलों पर भी कोविड की स्थिति पर विशेष नजर रखी जा रही है।
वैक्सीनेशन के बढ़ते आंकड़े राहत का विषय
इस बारे में वरिष्ठ फीजिशियन डॉ. दीपक कपूर कहते हैं कि भले ही कोरोना वायरस संक्रमण के आंकड़े एक दिन में कभी कम तो कभी अधिक हैं, हालांकि वैक्सीनेशन बढ़ रहा है, ऐसे में यह काफी राहत का विषय है। अब राज्य में आठ करोड़ से अधिक को वैक्सीन दी जा चुकी है। वरिष्ठ फीजिशियन डॉ. एस.के. सोंथलिया ने कहा कि वैक्सीनेशन की पहुंच सब तक होना ही कोविड के नियंत्रण में राहत देगा। विशेषकर पहले व सेकेंड डोज के बीच अधिक गैप को भरने की आवश्यकता है। देखा जा रहा है कि काफी लोग वैक्सीन का पहला डोज लेने के बाद दूसरा डोज समय से नहीं ले रहे हैं। इस पर ध्यान देना आवश्यक है।
कुछ जिलों में 28 अक्टूबर से तीन नवंबर के बीच कोविड स्थिति
जिला-पॉजिटिविटी रेट
हावड़ा-3%
दार्जिलिंग-2.83%
बांकुड़ा-2.81%
उत्तर 24 परगना-2.48%
कोलकाता-7.31%
(नोट-आंकड़े केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय)

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शांति बरकत और धन लाता है घर का चकला बेलन, करें ये अचूक टोटका

कोलकाताः जब भी कभी घर में लक्ष्मी का वास करने की बात आती हैं तो इसका संबंध आपकी रसोई से भी जुड़ा होता हैं। जी आगे पढ़ें »

ऊपर