महानगर में ऑक्सीजन व दवाई की कालाबाजारी पर रोक लगाएगी कोलकाता पुलिस की विशेष टीम

8 पुलिस अधिकारियों की विशेष टीम हुई गठित
महानगर के ऑक्सीजन सप्लायरों की तालिका हो रही है तैयार
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : देश में कोरोना के फैलते संक्रमण के बीच ऑक्सीजन को लेकर महामारी शुरू हो गयी है। कई राज्यों के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के कारण मरीजों की मौत हो गयी। ऐसे में महानगर कोलकाता में ऑक्सीजन की कालाबाजारी रोकने के लिए कोलकाता पुलिस की ओर से विशेष टीम का गठन किया गया है। कोलकाता पुलिस की यह विशेष टीम महानगर में दवाइयों की कालाबाजारी पर भी रोक लगाएगी ।
महानगर में कुछ जगहों पर ऑक्सीजन की समस्या आयी
एक तरफ जहां पूरे देश में ऑक्सीजन सिलिंडर का अभाव देखा जा रहा है, वहीं पुलिस को खबर मिली है कि महानगर के कुछ हिस्से में भी ऑक्सीजन सप्लाई की समस्या देखी जा रही है। कोरोना संक्रमित मरीजों के अलावा सांस की बीमारी से जूझने वाले मरीजों को भी ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है। दक्षिण कोलकाता के गरफा में कोरोना संक्रमित वृद्ध महिला के परिजनों को ऑक्सीजन खोजने पर भी नहीं मिला। अधिकतर दवा दुकानों द्वारा कहा जा रहा है कि उनके पास ऑक्सीजन नहीं है। इस बीच जब तक परिवार के सदस्य ऑक्सीजन लेकर घर पहुंच रहे हैं तब तक मरीज की मौत हो जाती है। पुलिस सूत्रों के अनुसार इस साल कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 13 हजार के करीब पहुंच गयी है। महानगर में ऑक्सीजन सिलिंडर की डिमांड अचानक कई गुना बढ़ गयी है। बाजार में अचानक ऑक्सीजन सिलिंडर की कमी हो गयी है। कई दवा दुकानदार अभी ऑक्सीजन बेचना नहीं चाहते। पुलिस का अनुमान है कि मार्केट में ऑक्सीजन की डिमांड देख इसकी कालाबाजारी की जा रही है। सूत्रों के अनुसार 10 लीटर थोड़ा ज्यादा वजन वाला ऑक्सीजन सिलिंडर (बी टाइप) 4500 रुपये तक मिलता है। 46.7 लीटर वाला ऑक्सीजन सिलिंडर (डी टाइप) 8 हजार से 10500 रुपये तक मिलता है। इस बीच कई दुकानदार अपनी सुविधा के अनुसार ज्यादा कीमत पर ऑक्सीजन सिलिंडर बेच रहे हैं। इस तरह की कई शिकायतें बीते कुछ दिनों में कोलकाता पुलिस के पास आयी हैं। महानगर में ऑक्सीजन सिलिंडर की कालाबाजारी सुनने के बाद ही कोलकाता पुलिस सक्रिय हो गयी है। कोलकाता पुलिस के ईबी के एक अधिकारी ने बताया कि महानगर में ऑक्सीजन और दवा की कालाबाजारी रोकने के लिए इंफोर्समेंट ब्रांच की ओर से विशेष टीम का गठन किया गया। यह टीम रोजाना महानगर के विभिन्न मार्केट, ऑक्सीजन सप्लायर, दवा दुकानों पर जाकर अभियान चलाएगी। ईबी की विशेष टीम में 8 पुलिस कर्मी शामिल हैं ।
महानगर में ऑक्सीजन सप्लायरों की तालिका हो रही है तैयार
शहर के विभिन्न इलाकों में ईबी की विशेष टीम ने ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ अभियान तेज कर दिया है। जो दवा दुकानें ऑक्सीजन सप्लाई करती हैं उनकी तालिका तैयार की जा रही है। इन दुकानों में किस तरह की ऑक्सीजन कितनी संख्या में मौजूद होती है, इसका हिसाब लेना पुलिस कर्मियों ने शुरू कर दिया है। किसी दुकान के गोदाम में अत‌िरिक्त संख्या में ऑक्सीजन सिलिंडर मौजूद है या नहीं, इसकी जांच भी की जा रही है। इसके अलावा महानगर की जो कंपनियां ऑक्सीजन सिलिंडर सप्लाई करती हैं, उनके पास कितने सिलिंडर हैं, इसकी जानकारी भी ईबी अधिकारी जुटा रहे हैं। ईबी अधिकारियों के अनुसार अगर कोई ऑक्सीजन सिलिंडर की कालाबाजारी करते हुए पकड़ा गया तो उसे गिरफ्तार किया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जल्द घर पहुंचने की जल्दी, वाहन पकड़ने के लिए मची होड़

लॉकडाउन के कारण 30 मई तक थम गई वाहनों की रफ्तार सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में रविवार से लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही लोगों में वाहन आगे पढ़ें »

लॉकडाउन के दौरान महानगर की सड़कों पर तैनात रहेंगे पुलिस कर्मी

नियमों का उल्लंघन करने पर डीएमजी एक्ट के तहत होगा मामला 30 जगहों पर पर होगा नाका चेकिंग सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या आगे पढ़ें »

ऊपर