कलकत्ता उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश ने कार्यरत अदालतों की संख्या बढ़ाने का आदेश दिया

कोलकाता: कलकत्ता उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश ने कोविड कमेटी की सिफारिशों के आधार पर उच्च न्यायालय और जिला स्तर पर काम का बोझ बढ़ाने और मुकदमों की अंतिम सुनवाई के लिए कार्यरत अदालतों की संख्या बढ़ाने का आदेश दिया है। कलकत्ता उच्च न्यायालय की रजिस्ट्रार जनरल राय चट्टोपाध्याय ने शुक्रवार को जारी एक अधिसूचना में कहा कि चार नियमित एकल पीठ के अलावा मुख्य न्यायाधीश टी बी एन राधाकृष्णन की अध्यक्षता वाली पीठ समेत चार खंडपीठ कामकाज जारी रखेगी।

अंतरिम चरण में डिजिटल तरीके से सुनवाई को तरजीह दी जाएगी
इसके अतिरिक्त दो अन्य एकल पीठ सप्ताह में तीन दिन रिट याचिकाओं पर सुनवाई करेगी। इंटरनेट सुविधा और बेहतर हो जाने पर एक और एकल पीठ भी सुनवाई करेगी। उन्होंने अधिसूचना में कहा है कि अंतिम सुनवाई के मामलों में खंडपीठ और एकल पीठ दोनों के सामने प्रत्यक्ष तौर पर सुनवाई की अनुमति होगी।

किसी खास मामले में डिजिटल-प्रत्यक्ष यानि मिश्रित तरीके से सुनवाई की जा सकती है क्योंकि किसी भी समय अदालत में वकीलों की संख्या छह या सात से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। सुनवाई जारी रहने और अंतरिम चरण में डिजिटल तरीके से सुनवाई को तरजीह दी जाएगी। चट्टोपाध्याय ने कहा है कि पोर्टब्लेयर में सर्किट बेंच से संबंधित मामलों की सुनवाई बुधवार को होगी। उच्च न्यायालय की कोविड कमेटी की सिफारिशों पर विचार करने के बाद मुख्य न्यायाधीश राधाकृष्णन ने कहा है कि उच्च न्यायालय और जिला स्तर पर, दोनों जगह काम का बोझ बढाने का प्रयास होना चाहिए।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

80 बरस के हुए महान फुटबॉल खिलाड़ी पेले

साओ पाउलो : ब्राजील के महान फुटबॉल खिलाड़ी पेले शुक्रवार को 80 बरस के हो गए लेकिन वह कोई बड़ा जश्न नहीं मना रहे हैं। आगे पढ़ें »

18 ट्रांसजेंडर उच्चतर माध्यमिक पाठक्रम की परीक्षा में उतीर्ण हुए

तिरुवनंतपुरम: केरल में ट्रांसजेंडर समुदाय के अठारह सदस्यों ने केरल राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण (केएसएलएमए) द्वारा उच्चतर माध्यमिक समकक्षता पाठक्रम के लिए आयोजित परीक्षा उतीर्ण आगे पढ़ें »

ऊपर