40 लोगों को मिली नेत्र ज्योति

कोलकाता : कंफेडरेशन ऑफ वेस्ट बंगाल ट्रेड एसोशिएशन द्वारा रविवार को प्रेम मिलन (कोलकाता) के सयुंक्त तत्वावधान में प्रकाश पारख चरिटेबल ट्रस्ट के सहयोग से नेत्र ऑपरेशन का आयोजन किया गया। मौके पर डॉ. शुभ्रो घोषाल ने नेत्र रोग की तकनिकी जानकार रेणु सिंह के सहयोग से 40 नेत्र रोग से पीड़ित जरूरतमंद लोगों का नि:शुल्क व सफल आंख ऑपरेशन किया। वहीं, कंफेडरेशन ऑफ वेस्ट बंगाल ट्रेड एसोशिएशन की ओर से सभी नेत्र रोगियों में शॉल भी बांटे गए। इसकी जानकारी संस्था की ओर से चंद्रकांत सराफ ने दी।

उल्लेखनीय है कि, समाजसेवी दामोदर मोर ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इस अवसर पर राधाकिशन राठी, सौरव झुंझुनवाला, मनोज सिंह ‘पराशर’ मौजूद थे। कंफेडरेशन ऑफ वेस्ट बंगाल ट्रेड एसोशिएशन के सुशील पोद्दार ने कहा कि वैसे तो शरीर के हर अंग की अपनी महत्ता और जरूरत है। किसी अंग को कम करके नहीं आंका जा सकता, फिर भी अगर यह कहा जाए कि आंख और आंख की रोशनी का महत्व अन्य अंगों से कहीं ज्यादा है तो कुछ गलत नहीं होगा। बावजूद इसके नेत्र रोगियों की संख्या में इजाफा हो रहा है। गरीब व असहाय लोग धन के अभाव में आंख का समुचित इलाज नहीं करवा पाते, लिहाजा उन्हें अपनी आंख व आंख की रोशनी गंवानी पड़ती है। ऐसे ही जरूरतमंद लोगों को प्रेम मिलन (कोलकाता) से बेहद आशा व उम्मीद रहती है, क्योंकि प्रेम मिलन ने कम समय में अंधत्व निवारण के क्षेत्र में अन्य संस्थाओं के लिए एक अनुकरणीय उदाहरण पेश किया है।

प्रकाश पारख ने अपने वक्तव्य में सुझाव देते हुए कहा कि आंख उपचार के साथ-साथ आंखों की देखभाल के प्रति लोगों को जागरूक किया जाना चाहिए, ताकि लोग असमय नेत्र रोग से पीड़ित होने से बच सके। सौरव झुंझुनवाला ने भी प्रेम मिलन (कोलकाता) के सेवाकार्यों की प्रशंसा की। शिविर को सफल बनाने में रोहित पारख, मोहित पारख,कृष्णा कुमार मुंधड़ा, हरि सोनी, निदिश अग्रवाल, मनोज जयसवाल, संतोष सिंघानिया, अशोक शर्मा, आकाश सिंह, कल्याण घोष, मुकेश सिंह ने सक्रिय भूमिका निभाई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

घर में कहां पर हो किचन और डाइनिंग रूम, जानें ये 7 महत्वपूर्ण बातें

कोलकाता : रसोईघर का दक्षिण-पूर्व यानी आग्नेय कोण में होना आदर्श है। अपार्टमेंट में फ्लैट के अन्य कमरों की तुलना में रसोईघर हमेशा छोटा होता आगे पढ़ें »

शनिदेव के प्रकोपों से चाहते हैं मुक्ति तो खाएं ये 5 चीजें

कोलकाता : ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक शनि देव न्याय के देवता माने जाते हैं। शनि देवता की पूजा के लिए शनिवार का दिन सबसे उत्तम आगे पढ़ें »

ऊपर